क्षेत्र में बढ़ता वर्दीधारियों का रोब

0
102

सुल्तानपुर(ब्यूरो)– आम लोगों पर पुलिसिया रौब गांठने वाली पुलिस आये दिन अपनी करतूतों के चलते पूरे महकमे को बदनाम करती ही रहती है,लेकिन अब ऐसे पुलिसकर्मियों का गुरुर इतना बढ़ गया है कि न्याय विभाग के कर्मचारी भी सुरक्षित नहीं है।जिला न्यायालय के एक पेशकार के जरिये दरोगा व एक सिपाही पर मार-पीट एवं बाइक छीनने का आरोप लगा है,जिससे पुलिस अपने कारनामे से फिर चर्चे में आ गई है।
मालूम हो कि खाकी वर्दी पहनने वाले कुछ दरोगा वर्दी के रौब में अक्सर अपने दायित्वों को भूल जाते हैं और उसी अहंकार में जरूर ही गलती कर बैठते हैं ।ऐसा ही एक मामला दीवानी न्यायालय में तैनात पेशकार रवि प्रकाश श्रीवास्तव के साथ हुआ, जिसकी शिकायत कोतवाली पुलिस से हुई,लेकिन शायद पुलिस मामला अपने विभाग से ही जुड़ा होने के चलते कार्यवाही करने से परहेज कर रही है। इस प्रकरण की शिकायत न्याय विभाग के उच्चाधिकारियों से भी हुई है।सिविल जज-उत्तरी बीडी गुप्ता की अदालत में तैनात पेशकार रवि प्रकाश श्रीवास्तव के आरोप के मुताबिक सोमवार को वह लंच टाइम में जज साहब से अनुमति लेकर अपनी पत्नी का पयागीपुर स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखा में खाता खुलवाने गए थे ,जहां से वापस लौटते समय पयागीपुर चौराहे के पास वह जाम से निकलकर जैसे ही आगे बढ़े वैसे ही चौराहे पर तैनात दरोगा संदीप कुमार राय उसके सहयोगी एक दरोगा व एक सिपाही ने पेशकार रवि प्रकाश श्रीवास्तव की गाड़ी को पीछे से खींचकर रोक लिया और उनकी बाइक छीनकर मारने पीटने लगे, इस दौरान जब पेशकार ने पिटाई का कारण जानना चाहा तो पुलिस वाले कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हुए और कहे कि ज्यादा इधर-उधर करोगे तो फर्जी मुकदमे में फंसा कर जेल भेज देंगे। पुलिसकर्मियों के इस करतूत की शिकायत पेशकार ने कोतवाली पुलिस से भी की,लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई।पेशकार ने प्रकरण से अपने पीठासीन अधिकारी सिविल जज उत्तरी व जिला जज से भी मिलकर अवगत कराया है।मिली जानकारी के मुताबिक जिला जज ने भी प्रकरण पर संज्ञान लेते हुए एसपी से वार्ता कर प्रकरण में कार्रवाई कराने की बात कही है। सूत्रों की माने तो पुलिस को जब पता लगा कि जो कारनामा उन्होंने किया है वह न्याय विभाग के कर्मचारी से जुड़ा है,तो मामले को सलटाने के लिए पुलिस अधिकारियों द्वारा सिफारिशों का भी दौर शुरू हो गया है।वही इस घटना की सूचना से न्यायालय कर्मियों में भी पुलिस की इस करतूत से तरह तरह की चर्चाएं हो रही है। इस संबंध में नगर कोतवाल पंकज वर्मा से बात की गई तो उन्होंने अपनी पुलिस का बचाव करते हुए उन्हें बेक़सूर बताया है।फिलहाल पेशकार की बाइक पुलिस के कब्जे में होने की पुष्टि की है।
रिपोर्ट-दीपक मिश्रा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here