जिलाखाद्य सुरक्षाधिकारी ने बताये मिलावट पहचानने के तरीके

0
75

सफीपुर/उन्नाव(ब्यूरो)- खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारियो ने मिलावट के परीक्षण की विधियों से रूबरू कराया| इस मौके पर मौजूद एक सैकड़ा लोगो ने उनसे प्रश्न भी पूछे जिसमे मुख्य तौर पर मिलावट पाए जाने पर किसे सूचित करे जिससे त्वरित कार्यवाही की जा सके।

रसूलाबाद मार्ग के निवासी दिलीप कुमार मिश्रा उर्फ गुड्डू ने अपने एक हाल में आयोजित व्यापारियो की एक कार्यशाला में अभिहित अधिकारी सुधीर कुमार ने उपस्थिति लोगो को विधिया बताते हुए कहा कि

1: असली शहद को कैसे पहचाने अगर शहद में चीनी का खोल मिलाया गया है तो एक रुई की बत्ती को शहद में डुबोकर माचिस से जलाने पर या तो यह नही जलता है अगर जलता भी है तो उसमें चिट चिट की आवाज निकलती है।

2: असली दूध को कैसे पहचाने जिसमे बताया गया कि दूध में कई तरह की मिलावट की जाती हैं जिसकी अलग अलग पहचान है| अगर दूध में पानी मिला है तो दूध की एक बूद को चिकना या चमकदार तिरछी सतह पर डालने से शुद्ध दूध की बूंद धीरे धीरे पीछे एक सफेद निसान छोड़कर बहता है जबकि पानी मिला हुआ दूध बिना किसी निशान छोड़े बहता है| अगर दूध में यूरिया मिली है तो एक परख नली में थोड़ा सा दूध लेकर उसमें आधा चम्मच सोयाबीन या अरहर पाउडर मिलाकर हिलाये, उसके बाद पांच मिनट के लिए रख दीजिए इसमें एक लाल लिटमस पेपर डूबने पर पेपर का रंग लाल य नीला होने पर यूरिया उपस्थित की पुष्टि करता है।

3: काली मिर्च की पहचान कैसे करें ज्यादातर काली मिर्च में पपीते का बीज मिक्स होता हैं उसको कैसे पहचाने पपीते का बीज हरा-भूरा, भूरा- कला अण्डाकार होता है जबकि काली मिर्च गोल पिचका तथा गोल कला होता है। बताया कि अल्कोहल डालने पर पपीते का बीज ऊपर रहता है जबकि काली मिर्च का बीज पूरी तरह से डूब जाता हैं| इसके साथ कई चीजों की मिलावट पर बारीकी से बताया जबकि बुद्धि लाल हलवाई के पुत्र ने जोर देकर कहा कि दीपावली जैसे पर्व पर मिलावट करने वाली मिठाई की दुकानो की बाढ़ आ जाती और मिठाई के रेट में गिरावट कर 40 रुपये किलो तक मिठाई बिकती है और हम दुकानदारो पर इसका सीधा असर पड़ता है| इस पर बताया गया कि ऐसे दुकानदारों को चिन्ह्ति कर कड़ी कार्यवाही की जाएगी |

इसी प्रकार खाद्य से संभंधित अन गिनत पदार्थो को परखने के तरीके बताए आए अधिकारियो ने स्पष्ट कहा कि बीमारिया बढ़ रही है| हमें बाज़ार से खरीदने वाले खाद्य पदार्थो में चौकसी बरतना होगी अन्यथा हमने क्या खाया उसका फायदा नुक़सान क्या हुआ सब कुछ नहीं जान पाया जाएगा ।

जिलाखाद्य सुरक्षाधिकारी के के त्रिपाठी ने मौजूद लोगो से सुरक्षा अधिनियम के मानक पूर्ण रखने का अनुरोध किया| क्षेत्रीय खाद्य सुरक्षाधिकारी कृपाशंकर और रामनरेश ने उपस्थित लोगो को मौके पर दूध, घी में मिलावट का परीक्षण कर के सरल विधियों को बताया, वही लोगो द्वारा मिलावट मिलने पर सूचना के सम्बन्ध में जानने पर टोल फ्री नंबर 18001805533 पर त्वरित सूचना की बात की। इस मौके पर रत्नेश गौड़, गुड्डू मिस्र, मटरी मिश्र, कमलेश, अशोक गुप्ता, धरम, प्रेमसागर सहित आधा सैकड़ा लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- रामजी गुप्ता 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here