तत्परता और होशियारी के साथ पुलिस ने पकड़ी लाखों की अवैध शराब

प्रतापगढ ब्यूरो- प्रतापगढ पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम के निर्देशन में चलाए जा रहे अभियान में एसओजी और जेठवारा  पुलिस की सँयुक्त कार्यवाही में लगभग 50 लाख की अवैश शराब से लदे ट्रक व एक मैजिक गाड़ी के साथ तीन लोगो को गिरफ्तार किया गया|

प्रभारी निरीक्षक जेठवारा श्री प्रदीप कुमार मय हमराह व स्वाट टीम प्रभारी श्री संजय कुमार शर्मा मय स्वाट टीम द्वारा थानाक्षेत्र जेठवारा के जगदीशपुर बाजार में कार्य सरकार किया जा रहा था कि मुखबीर खास द्वारा सूचना मिली कि ग्राम सरायदेव राय में स्थित भट्ठे पर उसके मालिक विभव सिंह निवासी गौरा, हिमान्चल प्रदेश की देशी शराब एक ट्रक से मगवाकर अपने भट्ठे पर ही आड़ में दूसरी छोटी गाड़ी पर लदवा रहे हैं। वादी की इस सूचना पर तत्काल उक्त पुलिस टीम द्वारा मौके पर पहुंचकर एका एक दबिश दी गयी तो वहां खड़ी ट्रक व हाफ मैजिक डाला के चालक अपनी-अपनी गाड़ियों की सीट पर बैठकर गाड़ियों को चालू कर भगाने का प्रयास किये तो पुलिस टीम द्वारा आवश्यक बल प्रयोग कर मौके पर ही दोनों गाड़ियों को कब्जे में लेते हुए 03 अभियुक्तों को हिरासत में ले लिया गया व दो अभियुक्तो का पीछा किया गया तो वे खेत में लगी फसल की आड़ लेते हुए फरार हो गये।

पकड़े गये अभियुक्तों व ट्रक में लदी 1100 पेटी अवैध शराब प्रति शीशी 180 मि0ली0 जिसके रैपर पर डाल्फीन डीलक्स विस्की मेड इन पैराडाइस डिसटेलरी इन्डस्ट्रीज सीरमौर हिमांचल प्रदेश अंकित एवं मैजिक हाफ डाला गाड़ी में लदी 130 पेटी अवैध शराब प्रति शीशी 180 मि0ली0 जिसके रैपर पर डाल्फीन डीलक्स विस्की मेड इन पैराडाइस डिसटेलरी इन्डस्ट्रीज सीरमौर हिमांचल प्रदेश अंकित को थाने लाया गया।

कुल 1230 पेटी अवैध शराब/ प्रति पेटी 48 शीशी व प्रति शीशी 180 मि0ली0 जिसके रैपर पर डाल्फीन डीलक्स विस्की मेड इन पैराडाइस डिसटेलरी इन्डस्ट्रीज सीरमौर हिमांचल प्रदेश अंकित है।  पकड़े गये अभियुक्तों में पहले अभियुक्त बलविन्दर सिंह ने पूछताछ में बताया कि यह शराब विभव सिंह नि0 गौरा प्रतापगढ़ के द्वारा मगांने पर लेकर आया था चूकिं शराब अवैध है इस लिए इसे बेचने के लिए मैं गाड़ी में अलग-अलग नम्बर व नम्बर प्लेटों का प्रयोग करता हूॅं। साथ ही साथ यह भी बताया कि मैं गाड़ी का मालिक भी हूं। अभियुक्त बलविन्दर सिंह के बताने के उपरान्त गाड़ी का नम्बर प्लेट चेक किया गया तो नम्बर प्लेट पर दोनों तरफ अलग-अलग नम्बर अंकित थे व गाड़ी के केबिन में सीट के नीचे से भी एक अलग नम्बर का नम्बर प्लेट बरामद किया गया। गाड़ी का इंजन व चेचिस नम्बर भी घीसा हुआ मिला जो अपठनीय है।

पकड़े गये दूसरे अभियुक्त सुरेश कुमार यादव ने बताया कि मैं अपने साथी विभव सिंह ईट भट्ठा मालिक के साथ मिलकर काम करता हूॅं तथा हमलोग अवैध शराब थोक में दस टयरा ट्रक से हिमांचल प्रदेश से मगाते है तथा चोरी छिपे इसे फुटकर में यहां से बेचते हैं। पकड़े गये तीसरे अभियुक्त रामदुलार ने बताया कि मैं अपने साथी श्री चन्द्र प्रजापति पुत्र छेदीलाल के साथ शराब खरीदने के लिए श्री विभव सिंह के वार्ता के अनुसार ईट-भट्ठे पर आया था तथा शराब लाद रहा था जिसमें मैं पकड़ा गया व मेरा साथी श्री चन्द्र प्रजापति भाग गया। हम दोनों लोग पकड़े जाने के डर से अपनी गाड़ी मैजिक हाफ डाला का नम्बर प्लेट बदल-बदल कर तथा विभिन्न नम्बरों का प्रयोग करके अवैध शराब का कार्य करते हैं।

अभियुक्त रामदुलार के बताने के उपरान्त गाड़ी का नम्बर प्लेट चेक किया गया तो नम्बर प्लेट पर दोनों तरफ अलग-अलग नम्बर अंकित थे व गाड़ी के केबिन में सीट के नीचे से भी एक अलग नम्बर का नम्बर प्लेट बरामद किया गया। गाड़ी का इंजन व चेचिस नम्बर भी घिसा हुआ मिला जो अपठनीय है। गिरफ्तार अभियुक्तों के विरुद्ध सम्बन्धित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर अग्रिम कार्यवाही की जा रही है व फरार अभियुक्तों के गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम द्वारा सम्भावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है। इस सराहनीय कार्य के लिए पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ के द्वारा उक्त गिरफ्तारी व बरामदगी में सम्मिलित पुलिस टीम को 5000/-रु0 (पांच हजार रु0) के पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया।

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here