फ्री बोंरिंग में लाखों का गोलमाल

0
123

गोरखपुर(ब्यूरो)- समाज कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जाति/जन जाति के लिए संचालित स्पेशल कंपोंनेन्ट योजना के तहत फ्री बोरिंग की भारी गोलमाल की खबर आई है आईटीआई से मिली सूचना मे इसका खुलाशा हुआ है हालाँकि सूचना पाने के लिए प्रयासरत व्यक्ति को अभी पूरी सूचना नही मिली है| गोलमाल करने वाले एक ही ब्लांक में बोरिंग कराने के लिए मेहरबान रहे सूची में जिन लोगों का नाम दिया गया है, वह अनुसूचित जाति के बजाय अन्य वर्ग के भी है|

स्पेशल कंपोनेन्ट की फ्री बोरिंग योजना वैसे तो पूरे जिले के अनुसूचित जाति/जन जाति किसानो के लिए रही है इस योजना पर २०१०-११ मे१०० लाभार्थी के लिए दस लाख,२०११-१२ में १०.७लाख २०१२-१३ मे २६४ के लिए २६.४० लाख २०१३-१४ और २०१४-१५ में चार सौ लाभार्थीयो के लिए ४०-४० लाख रूपये आवंटित किया गया था| यह सूचना घोष कंपनी निवासी अहमद नामक एक व्यक्ति द्वारा मांगी गई सूचना पर एक करोड़ खर्च हुआ है| धन की उपभोग की सूची से पता चलता है कि योजना को संचालित कराने वालो ने कुछ ही ब्लांको को दी है|

२०१०-११, २०११-१२ और २०१२-१३ मे चरगांवा, जंगल कौड़िया और कम्पियरगंज तीन ब्लांको ही किसानो को प्रथमिकता दी है| इसमे चरगांवा ब्लांक ही सर्वोपरि है जबकि इसका काफी हिस्सा शहरी हो चुका है| चरगांवा ब्लांक के जंगल अयोध्या प्रसाद हांव के प्रधान इंन्द्रजीत ने लिखित शिकायत किया है कि उनके गांव के त्रिवेनी, खिताबी, राजेन्द्र फौजदार, श्रीकान्त, मुन्ना के नाम २०११ मे जो फ्री बोरिंग कराये जाने की सूचना है वहा मौके पर बोरिंग नहीं है|

जिला समाज कल्याण अधिकारी सुनील कुमार का कहना है कि कुछ शिकायत मिली है जांच करायी जा रही है जल्द ही कार्रवाई की जायेगी|

रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here