खनिज बैरियल ही दे रहा शय निकाल रहे ओवरलोड गाडी

0
78

कबरई/महोबा(ब्यूरो)- जिधर देखा जाऐ हर जगह भ्रष्टाचार कोई सुधारने की कोशिश करता है तो सब लग जाते है उसे बिगाडने मे। क्या करे हरकतो व आदत से मजबूर है।

ऐसी आदत व जुगाड के चलते रफ्तार मे है खनिज बैरियल जहाँ पर मानो तो भ्रष्टाचार के सारे रिशतेनाते वहीं पे है। कबरई कस्बा से हजारों गाड़ीयों का दोनों बैरियलो मे आना जाना बना रहता है।

एक तरफ सूबे के सरताज व अपनी अच्छी छवी से लगे उत्तर प्रदेश को सवारने मे लेकिन सिर्फ अकेले ही नहीं कुछ होना आसान कुछ बडी समस्या से उबारने मे सहयोग भी जरूरी है लेकिन मुख्यमंत्री के मनसूबे व उनके आदेश का नकार कर उनकी छवी बिगाडने मे लगे है जिस तरह खनिज बैरियल वर्ताव कर रहा है उससे तो सरकार पर उंगली उठना तो तय है।

इस प्रकार का शिष्टाचार, तो कैसे खतम हो भ्रष्टाचार

मुख्यमंत्री जी के आदेश पर ओवर लोडिंग पर लगाम कुछ ही दिन की मेहमान रहा। अब उनके आदेश का उल्लंघन कर खनिज बैरियल अपनी जुगाड़ पर है इनके सह से जमकर ओवरलोड गाड़ी निकल रही है और धीरे-धीरे यह ओवरलोडिंग का बैन अपने आप ही खत्म हो जाऐगा जब अभी से ही ओवरलोड गाड़ी निकलने की संख्या मे बढ़ोतरी हो रही है तो जायज है की नियम खत्म हो जाऐगा।

इतना ही नहीं खनिज बैरियल मे बैठे कर्मचारी के सह से व तथा गाड़ी रोवाल्टी से विपरीत हो अपनी लेखापढी मे गढबडी कर बेवकूफ बनाया जा रहा और अपनी छवी अच्छी बना सरकार की छवी खराब करने मे लगे इसी तरह ट्रक वालो से रोवाल्टी चेक कराई रुपऐ भी एठंने मे माहिर है अपनी लेखापढी मे गढबढी पर निकालते है।

अगर ऐसे कर्मचारी व सिसटम से सब चलेगा तो कुछ नहीं हो पाऐगा देश का व आम लोगो का। जब सब भ्रष्टाचार को अपना रास्ता बना अपनी मस्ती मे मस्त रहेगे तो कैसे अकेले एक मुख्यमंत्री जी देश को सही रस्ते पर ला पाऐगें।

रिपोर्ट-प्रदीप मिश्रा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY