खनन ठेकेदार ने की बालक की हत्या

0
208

बहराइच(ब्यूरो)- बॉन्डी थाना क्षेत्र के भौंरी ग्राम पंचायत में घाघरा की कक्षार में बालू में दबी एक बालक की लाश ग्रामीणों को मिली जबकि उसका एक साथी लापता है । ग्रामीण व बालक के पिता ने उसी जगह पर खनन कर रहे खनन ठेकेदार व जेसीबी चालक के ऊपर हत्या का आरोप लगाते हुए शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया । मौके पर पहुंचे एसडीएम, सीओ व भारी पुलिस बल ने स्थिति को काबू में करने का प्रयास किया किंतु देर शाम तक स्थिति प्रशासन के पक्ष में नहीं हो सकी ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बौंडी थाना क्षेत्र के भौंरी निवासी चेतराम का 10 वर्षीय पुत्र करन अपना खेत देखने सुबह करीब 11:00 बजे घाघरा के कक्षार में गया था । इसके बाद ही गांव के रहमत अली का 6 वर्षीय पुत्र निसार भी वहीं गया था । जब दोपहर 1:30 बजे तक दोनों बालक नहीं आए तो ग्रामीणों व परिजनों ने खोजबीन शुरू की । इस दौरान एक चरवाहे को घाघरा के बालू में अपराह्न ढाई बजे बालक के दोनों पैर बाहर निकले दिखाई दिए । बालू हटाने पर बालक करन का शव बाहर निकाला गया । आक्रोशित हजारों ग्रामीणों ने तुरंत शव को सड़क पर रख कर के विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया । जबकि घटना की गम्भीरता को देखते हुए खनन कर रहे ट्रैक्टर ट्राली चालक, मजदूर, जेसीबी चालक आदि मौके से भाग गए ।

घटना की सूचना पाकर मौके पर थानाध्यक्ष बौंडी अटल बिहारी ठाकुर , एसडीएम नागेंद्र कुमार, व भारी मात्रा में कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची व ग्रामीणों को समझाना बुझाना प्रारंभ किया । किन्तु ग्रामीण एक ही बात पर अड़े रहे कि तुरंत हत्या का मुकदमा लिखा जाए तथा खनन को तत्काल प्रभाव से बंद कराया जाए । तभी वह शव को पोस्टमार्टम के लिए देंगे । जबकि इसी गांव के रहने वाले रहमत अली का पुत्र निसार 6 वर्ष भी 11:00 बजे नदी के तरफ गया था । वह भी लापता है । ग्रामीणों का कहना है कि खनन करने वालों ने उसको भी मारकर कहीं दबा दिया है। बौन्डी थाना क्षेत्र के घूरदेवी ग्राम पंचायत में हो रहे खनन का चेतराम ने ग्रामीणों के साथ 2 दिन पूर्व विरोध करते हुए जिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक शिकायती पत्र दिया था ।

शिकायती पत्र में चेतराम सहित अन्य ग्रामीणों ने यह बताया था कि जिस गाटा संख्या का पट्टा हुआ है । उसमें लोग खनन करने के बजाए ग्रामीणों के गाटा संख्या में खनन कर रहे हैं । जब वह लोग मना करते हैं तो उन्हें जेसीबी से दबाकर मारने की धमकी दी जाती है । ग्रामीणों ने आगामी 24 जून को खनन के विरुद्ध धरना देने की चेतावनी भी दी थी । बुधवार को जब उनका इकलौता बेटा नदी की तरफ गया था तो उधर से वापस लौट कर नहीं आया । इकलौते बेटे की लाश देखकर चेतराम पति पत्नी दोनों रोते बिलखते हुए बार-बार मूर्छित हो रहे हैं । जबकि ग्रामीण लापता हुए निसार का खोज भी कर रहे हैं । उसके भी पिता रहमत की हालत धीरे-धीरे बद से बदतर होती जा रही है ।

रिपोर्ट- राकेश मौर्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here