बलिया में मंत्री के तेवर से अधिकारियों में खलबली

0
100

बलिया(ब्यूरो)- प्रदेश के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने कहा कि सरकार की सभी योजना गरीबों तक पहुंचनी चाहिए। सरकार बदल गई है, मुख्यमंत्री बदल गये है, अब कार्यशैली भी बदल जानी चाहिए। उन्होंने दर्जनों अधिकारियों की तगड़ी क्लास भी लगाई। कहा गरीबों का हक उनके दरवाजे तक पहुंचाना सरकार की मंशा है। बिजली विभाग के कार्यो पर कड़ी आपत्ति जताते हुए मंत्री ने बिजनेस प्लान के तहत कराये गये कार्यो की जांच कराने का निर्देश दिया। कहा कि विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में लापरवाही अक्षम्य होगी।

डीपीआरओ को निर्देश दिया कि गांव में सफाईकर्मियों को भेज कर सफाई कराएं। नमामि गंगे योजनान्तर्गत बने शौचालयों की सूची सार्वजनिक करने को कहा। आंगनबाड़ी केंद्रों पर बंटने वाले एमडीएम की जांच कराने का निर्देश दिया। इस दौरान बैरिया विधायक ने बैरिया सीडीपीओ की शिकायत की। बाढ़ विभाग के एक्सईएन ने बताया कि टेंडर हो गया है। मई से कार्य शुरू हो जाएगा। मंत्री ने कहा कि दागी ठेकेदारों से काम नहीं कराया जाए। बाढ़ संबंधी कार्य की गुणवत्ता से खिलवाड़ हुआ तो मुकदमा कराकर कार्रवाई करायी जाएगी। जल निगम के एक्सईएन को कहा कि खराब हैण्डपम्पों को ठीक करा दें। मंत्री ने एक करोड़ 81 लाख की लागत से बने सोहांव ब्लाक भवन के निर्माण की भी जांच कराने को कहा। मंत्री उपेंद्र तिवारी ने कहा कि बहुत जल्द सरकार ‘गरीब कल्याण योजना’ लेकर आ रही है। खाद्य सुरक्षा अधिनियम में काफी अपात्रों को भी लाभ मिल रहा है। अब ऐसा नहीं होगा। कोटेदार अगर कहीं भी खाद्यान्न वितरण में हीलाहवाली करते है तो उनसे सख्ती से निपटा जाए।

मंत्री ने सभी अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि जिनके भी कार्य अधूरे है, उनको 15 दिन का समय दिया जाता है। 15 दिनों में कार्य को पूरा कर लें, अन्यथा कार्रवाई होगी। मंत्री उपेंद्र तिवारी ने स्वास्थ्य व राशन वितरण व्यवस्था को तत्काल सुधारने का निर्देश दिया। यूनानी व आयुर्वेदिक अस्पतालों का कुछ पता नहीं होने पर नाराजगी जताई। कहा कि दो दिन के अंदर मोटे बोर्ड लगाकर प्रचार प्रसार करवाएं। इसी बीच बैरिया विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि सोनबरसा सीएचसी पर दो दिन के अंदर महिला चिकित्सक को कार्यभार ग्रहण कराएं। निर्माण निगम व पैक्सपेड द्वारा कराये निर्माण कार्यों की जांच कराने का निर्देश दिया। समीक्षा में पाया कि दोनों कार्यदायी संस्था के कई कार्य जो दो साल पहले पूर्ण हो जाने चाहिए थे, वे आज भी अधूरे है। सभी विभागों से विभागीय कार्यों का पूरा व्यौरा मांगा। कहाआपकी ही रिपोर्ट के आधार पर धरातल पर हुए कार्यो को चेक किया जाएगा।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here