राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य ने किया औचक निरीक्षण

0
118

देहरादून(उत्तराखंड)- मोबाइल पर गाने सुनता कर्मचारी, गंदे पड़े शौचालय और फाइलों का पता नहीं। यह तस्वीर देखने को मिली महिला कल्याण एवं बाल विकास निदेशालय की। राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य आकस्मिक निरीक्षण करने पहुंची तो अधिकारी-कर्मचारी सकते में आ गए। तमाम खामियों पर राज्य मंत्री ने नाराजगी जताई और फटकार लगाई। उन्होंने अधिकारियों और कर्मचारियों को कड़ी चेतावनी दी कि तत्काल तमाम व्यवस्थाएं दुरुस्त की जाएं। अगर ये खामियां फिर दिखीं तो अधिकारी और कर्मचारियों पर दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

महिला कल्याण और बाल विकास राज्य मंत्री रेखा आर्य ने सुद्धोवाला स्थित निदेशालय का औचक निरीक्षण किया। कार्यालय में घुसते ही उन्हें एक कार्मिक मोबाइल फोन के हेड फोन लगाए मिला। उन्होंने हेड फोन निकालकर देखा तो वह गाने सुन रहा था। इस पर उन्होंने कर्मचारी को फटकार लगाई। कर्मचारी दिव्यांग था। इसलिए उसे चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। इसके बाद राज्य मंत्री ने शौचालयों का रुख किया तो वे उखड़ गईं। शौचालयों की स्थिति पर उन्होंने अधिकारियों को फटकारा। उन्होंने विभाग की फाइलें मांगी तो अधिकारी बगलें झांकने लगे।

राज्य मंत्री रेखा आर्य ने अधिकारियों से लंबे समय से टिके कार्मिकों की सूची जल्द मुहैया कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 10 साल या इससे लंबे समय से एक ही जगह टिके कर्मचारियों की सूची जल्द उन्हें दी जाए। उन्होंने कहा कि कार्मिक एक ही स्थान पर टिके-टिके लापरवाह हो गए हैं। उन्हें तत्काल इधर-उधर किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने तमाम अव्यवस्थाओं पर अधिकारियों और कर्मचारियों को कड़ी चेतावनी दी कि आगामी निरीक्षण तक तमाम खामियां दूर कर लें। उन्होंने कहा कि अगर दोबारा ये अव्यवस्थाएं देखने को मिलीं तो संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों पर दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY