कश्मीर में उपद्रवियों पर मिर्ची ग्रेनेड के इस्तेमाल को मंजूरी, दुनिया की सबसे तीखी मिर्च का होगा इस्तेमाल…

0
2872

kashmir
केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पैलेट गनों के विकल्प के रूप में भीड़ नियंत्रित करने के लिए मिर्च पाउडर भरे ग्रेनेड (पावा शैल्स) के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी. राजनाथ सिंह ने रविवार को अपने नेतृत्व में सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के जम्मू-कश्मीर दौरे से पहले यह मंजूरी प्रदान की है |

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि गृहमंत्री ने पैलेट गनों के विकल्प के रूप में पेलार्गोनिक एसिड वेनिलाइल एमाइड (पावा) के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी, जिसे नॉनिवेमाइड भी कहा जाता है. सूत्रों ने कहा कि कश्मीर घाटी में रविवार को करीब 1000 पावा गोले पहुंचेंगे.

ये पावा शैल्स ग्वालियर के टेकनपुर स्थित बीएसएफ की टियर स्मोक यूनिट (TSU) में तैयार
किए गए है, बीएसएफ की टेकनपुर स्थित टियर स्मोक यूनिट देश में सुरक्षा बलों और आर्मी के लिए आंसू गैस के गोले तैयार करती है. टियर स्मोक के इन गोलों के जरिए उपद्रवियों पर काबू पाया जाता है|

कुछ साल पहले बीएसएफ ने टियर गोले में मिर्च का इस्तेमाल शुरु किया. मिर्च वाले टियर बम के बेहतर नतीजे निकले, इन बम की तीव्रता केमिकल के बराबर होती लेकिन इनके इस्तेमाल से उपद्रवियों को किसी तरह का शारीरिक नुकसान नहीं होता है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY