सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर हो रही मनमानी

0
52

केराकत(जौनपुर ब्यूरो) : प्रदेश सरकार द्वारा सरकारी अस्पतालों में आने वाले मरीज़ों को बाहर कि दवाओं समेत जांच पर प्रतिबन्ध के बावजूद सरकारी अस्पताल के  डॉक्टर दावा समेत बाहर की जांच करा रहे है। कमीशन के चक्कर में सरकारी अस्पताल के ही डॉक्टर  सरकारी जांच और अस्पताल में वितरित हो रही दवाओं को अनुपयोगी बताकर अपने ही सिस्टम पर उंगलियां उठा रहे हैं।यहाँ तक की अस्पताल के लैब की जांच और दवा दोनों पर विश्वाश नही होने की बात मरीज़ों से कह कर बाहर की जांच और दवाके लिए अस्पताल की पर्ची के साथ एक अलग पर्ची मरीज को पकड़ाने के साथ कह दिया जाता है की फलाँ मेडिकल स्टोर से दवा और फलाँ एक्स-रे या जांच सेंटर से जाकर करा लेना।खुदा नखासते अगर मरीज ने डॉक्टर द्वारा लिखी मेडिकल स्टोर से दवा न लेकर दूसरी स्टोर से खरीदने की गलती कर दी तो उसे काफी जलालत के साथ बैरंग वापस कर दिया जाता है।यही स्थिति सम्बंधित दुकान से दवा न लेने के कारण झेलनी पड़ती है।

सफाई व्यवस्था धड़ाम
जहा एक तरफ प्रधानमंत्री स्वच्छता अभियान का दम भर रहे है वही इस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की सफाई व्यवस्था चरमरा गई है।हर जगह गन्दगी का अंबार लगा है।यहां तक की गर्मी में पानी की व्यवस्था भी नहीं है।

रिपोर्ट – अमित कुमार पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here