बंदी के साथ तीन माह से लापता पुलिसकर्मी सस्पेंड

0
137

रुद्रपुर– बंदी को इलाज के लिए एम्स दिल्ली ले गए दो जवानों को यूएसनगर पुलिस मुंबई से लेकर रुद्रपर आ गई  है। बंदी के साथ पुलिस के दो सिपाही तीन माह से लापता थे। वहीं दोनों पुलिस कर्मी समेत पुलिस लाइन के गणना मुंशी को सस्पेंड कर दिया गया है। एएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि बंदी समेत तीनों पुलिसकर्मियों पर सिडकुल पुलिस चौकी में केस दर्ज कराया गया है। उनके अनुसार सोमवार को केस हल्द्वानी ट्रांसफर कराया जाएगा। बता दें कि बंदी के साथ 80 दिन से अधिक समय से लापता पुलिसकर्मियों के साथ पुलिस लाइन के गणना मुंशी की भी लापरवाही सामने आई है। अधिकारियों के मुताबिक पुलिस कर्मियों ने उसे एम्स में होने की जानकारी दी थी, लेकिन मुंशी ने इसे अफसरों से साझा करने की जरूरत नहीं समझी। अगर जेल से बंदी को पेश करने का रिमाइंडर नहीं आता तो मामला ही नहीं खुलता।

हल्द्वानी जेल में बंद प्रकाश कांडपाल चार दिसंबर को लीवर की बीमारी के इलाज के लिए सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी से एम्स नई दिल्ली रेफर किया गया था। उसके साथ पुलिस लाइन रुद्रपुर में तैनात कांस्टेबल ललित नेगी और अशोक कुमार दिल्ली भेजे गए थे। एसएसपी सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने बताया कि तीन मार्च 2017 को उन्हें वरिष्ठ अधीक्षक कारागार का पत्र मिला। इसमें कहा गया कि बंदी प्रकाश नारायण कांडपाल को 27 फरवरी को कोर्ट में पेश किया जाना था, जिसे न्यायालय में पेश नहीं किया गया। उसे चार मार्च को पेश करने को कहा गया है। इसके बाद पुलिस ने हल्द्वानी एसटीएच में पता किया तो बंदी के साथ दोनों कांस्टेबल वहां नहीं मिले। पुलिस लाइन के गणना मुंशी भूपेंद्र सिंह से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि बंदी जय प्रकाश उर्फ प्रकाश नारायण कांडपाल के साथ दोनों पुलिस कर्मी दिल्ली एम्स में है। इसके बाद गणना मुंशी और आरआई ने पुलिस कर्मियों ने संपर्क साधा। पुलिस कर्मियों ने उन्हें बताया कि बंदी जयप्रकाश चलने फिरने की स्थिति में नहीं है।

एसएसपी के मुताबिक इस दौरान पता चला कि बंदी मुंबई में है। इसके बाद एएसपी मंजूनाथ टीसी, एसएसआई प्रकाश दानू, एसओजी प्रभारी जसवंत सिंह की अगुवाई में एक टीम मुंबई भेजी गई, जहां पुलिस ने दबिश देकर कुर्ला पूर्वी मुंबई से दोनों पुलिस कर्मियों के साथ बंदी को पकड़ा। एसएसपी ने बताया कि बंदी को एम्स दिल्ली में रखने की झूठी सूचना देने,जानबूझकर बंदी को मुंबई पहुंचाने और दोनों पुलिस कर्मियों ने एक राय होकर आपराधिक साजिश रची है। मामले में रविवार रात रुद्रपुर कोतवाली की सिडकुल पुलिस चौकी में बंदी प्रकाश समेत तीनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। बंदी के साथ गए कांस्टेबल ललित नेगी, अशोक कुमार और गणना मुंशी को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस कर्मियों से पूछताछ जारी है। एसएसपी सैंथिल अबुदई ने बताया कि बंदी के साथ दोनों पुलिस कर्मियों से पूछताछ की जाएगी। जेल अफसरों से उनके संपर्क की भी जांच होगी। सीओ स्वतंत्र कुमार से तीन दिन में जांच रिपोर्ट मांगी गई है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here