विधायक ने दरोगा पर लगाया बदसलूकी का आरोप

0
54

मुंगराबादशाहपुर/जौनपुर(ब्यूरो)- मुगरा विधायक सुषमा पटेल ने मंगलवार को थानाध्यक्ष पंवारा पर स्वयं के साथ अभद्रता करने और फर्जी मुकदमे में जेल भेजने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए समर्थको के साथ थाने के सामने धरने पर बैठ गयी। विधायक का आरोप है कि आम तोड़ने के विवाद में हुई मारपीट और छेड़खानी का एफआईआर न दर्ज करने के मामले को लेकर वे थाने पर पहुंची तो दारोगा ने मेरे ही साथ बदसलूकी किया साथ में मुझे ही फर्जी मुकदमे जेल भेजने की धमकी दिया।

विधायक द्वारा धरने पर बैठते ही पुलिस प्रशासन मे हड़कम्प मच गया । सूचना पर एस डी एम के साथ पहुंची पुलिस उपाधीक्षक द्वारा तीन आरोपियो के बिरूद्ध मारपीट और आगजनी का मुकदमा दर्ज करवा कर विधायक का गुस्सा शांत कराया।

जौनपुर जिले के पवारा थाना क्षेत्र के बनकट गांव में दो दिन पूर्व आम तोड़ने के विवाद में एक पक्ष लोगो ने एक दलित बालिका के साथ मारपीट किया| बेटी की बचाव में आयी उसकी मां को भी आरोपियो ने नही बख्शा। पीड़ित मां अपनी बेटी को लेकर थाने जाकर आपबीती सुनाई तो उसका एफआईआर दर्ज नही किया गया उल्टे डाॅटकर भगा दिया गया। इसकी भनक मुंगराबाद शाहपुर की विधायक सुषमा पटेल को हुआ तो आज वे अपने समर्थको के साथ थाने पहुंचकर मारपीट छेड़खानी और आगजनी का मुकदमा दर्ज कराने का दबाव बनाने लगी| इसी को लेकर थानेदार और विधायक के बीच गर्मागम बहस हो गयी। इस वारदात से नाराज विधायक अपने समर्थको के साथ थाने के सामने ही धरने पर बैठ गयी।

विधायक का आरोप है कि मैं गरीब के लिए थाने आयी तो दरोगा ने मेरे साथ बदसलूकी किया और मुझ पर मुकदमा लिखकर जेल भेजने की धमकी दी है। विधायक ने कहा कि जब मेरे साथ पुलिस ऐसा व्यवहार कर रही है तो आम जनता के साथ कैसा व्यवहार पुलिस करती होगी इसका अंदाजा इसी से लगा लिजिए। विधायक द्वारा धरना प्रर्दशन करने से पुलिस प्रशासन को होश आया। पुलिस ने तीन सगे भाईयो के खिलाफ मारपीट और आगजनी का मुदमा दर्ज करने के साथ विधायक को आश्वासन दिया कि छेड़खानी की जांच करायी जायेगी यदि यह मामला सही निकला तो वह धारा भी बढ़ा दिया जायेगा।

रिपोर्ट- डॉ. अमित कुमार पाण्डेय 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY