मोबाइल सेवा में बदतर रूपईडीहा में जियो, सिम पोर्ट से भी ठगा महसूस कर रहे मोबाइल उपभोक्ता

0
15

बहराइच (ब्यूरो)-  पूरे भारत में नेटवर्क नम्बर वन जिओ कहे जाने वाली कम्पनी नेपाल से सटे रुपईडीहा की मोबाइल सेवाओं में फ़िसड्डी साबित होती दिखाई दे रही है । कस्बा रुपईडीहा में बीएसएनएल,रिलायंस जिओ,एयरटेल ने टावर लगा रखे हैं लेकिन नेटवर्क के मामले में जिओ सबसे कमजोर साबित हो रहा है जबकि जिओ के सबसे ज्यादा उपभोक्ता होने के बावजूद जिओ कम्पनी के कर्मचारी नेटवर्क पर काम नहीं कर रहे है । जिसकी वजह से नेटवर्क सिर्फ टावर के समीप ही काम करता है अगर आप टावर से कुछ मीटर दूर जाकर बात करना चाहे तो नेटवर्क इतना वीक है की कॉल ड्रॉपिंग, नो सिग्नल, जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है ।

ऐसी समस्याएं आए दिन हो रही हैं। इसका खामियाजा यहां हजारों उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। लगभग तीन चार माह से जिओ की नेटवर्क सेवाएं पूरी तरह ध्वस्त है। संचार व्यवस्था ठीक न होने से मोबाइल फोन खामोश रहते है। इंटरनेट सेवाएं भी थम सी गयी है। लोग दिन प्रति दिन परेशान रहते है । जिओ नेटवर्क खराब होने से अधिकारियों के नंबर भी खामोश रहते है ।

भारत-नेपाल सीमा पर स्थित रुपईडीहा प्रदेश के संवेदनशील कस्बों में शुमार है। इन सबके बावजूद भी आए दिन यहां रिलायंस जियो धोखा दे जाता है। नेटवर्क फेल होने से इंटरनेट सेवाएं भी ध्वस्त हो जाती हैं। इस संकट में ध्वस्त संचार सेवाएं कभी भी कस्बा के लिए भारी पड़ सकती हैं।  रिलायंस जियो का नेटवर्क ध्वस्त होने से बैंकों के अलावा सरकारी कार्यालयों में कामकाज ठप रहते है। जनसेवा व लोकवाणी केंद्रों के अलावा वादकारियों को भी दिक्कतें उठानी पड़ती है। सहालग के मौसम में रिलायंस जियो सेवा ठप होने से लोगों को रुपये निकालने में भी दिक्कतें उठानी पड़ती है ।

कंप्यूटर की दुकानें ग्राहकों से सूनी रहती है। लोग दिनभर इंटरनेट आया या नहीं इसकी जानकारी लेते रहते है। मोबाइल फोन खामोश होने से सोशल मीडिया पर भी ग्रहण लग जाता है। कस्बा रुपईडीहा में आए दिन रिलायंस जियो की सुविधाएं ठप होने से उपभोक्ताओं में नाराजगी दिख रही है ।

रिपोर्ट – संतोष मिश्र 

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here