चीन और पाकिस्तान के मुंह पर मोदी सरकार ने जड़ा तमाचा, ईरान में एक पोर्ट को विकसित करेगा भारत

0
14352

दिल्ली- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी आज दोपहर अपनी दोदिवसीय यात्रा पर ईरान के लिए रवाना हो जायेंगे | जानकारों का मानना है कि पीएम मोदी की यह यात्रा दोनों देशों के लिए मील का पत्थर साबित हो सकती है | पीएम की इस यात्रा के दौरान कई ऐतिहासिक फैसले किये जा सकते है | इन फैसलों में सबसे महत्त्वपूर्ण ईरान के चाबहार पोर्ट को विकसित करना है | दोनों देशों के आपसी सहयोग से बनने वाले इस पोर्ट के विकसित होने के बाद भारत और ईरान सहित अफगानिस्तान के बीच व्यापार करना आसान हो जायेगा |

चाबहार पोर्ट को विकसित करना चाहता है भारत –
ईरान चाबहार पोर्ट को विकसित करना चाहता और भारत इस पोर्ट को विकसित करने के लिए पूरी मदद देने के लिए तैयार है | भारत तेल आयात करने वाला एक प्रमुख देश है अब इस पोर्ट के विकसित हो जाने के बाद भारत और ईरान के बीच व्यापारिक संबंध और अधिक मजबूत हो सकते है | चाबहार पोर्ट विकसित होने के बाद भारत ईरान दोनों सीधे व्यापार कर सकते है और ईरान तथा भारत के जहाजों को पाकिस्तान के रूट से होकर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी वे सीधे एक दुसरे के साथ संपर्क कर सकते है |

भारत, ईरान और अफगानिस्तान की तिकड़ी चीन और पाकिस्तान को देगी करारा जवाब –
आज जब पीएम मोदी ईरान के दौरे पर ईरान की राजधानी तेहरान पहुंचेंगे तो उस समय वहां पर अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ घनी पहले से ही मौजूद होंगे | इस पोर्ट के विकसित होने के बाद भारत की पहुँच सीधे अफगानिस्तान तक हो जाएगी और उसे पाकिस्तान होकर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी | पहले भारत को अफगानिस्तान के साथ ट्रेड करने के लिए पाकिस्तान से होकर गुजरना पड़ता था जहां खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था लेकिन अब चाबहार एयरपोर्ट के विकसित होने के बाद पाकिस्तान की आवश्यकता दोनों ही देशों को ख़त्म हो जाएगी और दोनों देश आपस में ईरान होते हुए व्यापार कर सकते है | चाबहार पोर्ट के विकसित होने के बाद भारत की पहुँच सड़क और रेल मार्ग के द्वारा न केवल ईरान, अफगानिस्तान बल्कि पूरे मध्य एशिया तक हो जायेगी जो कि व्यापारिक द्रष्टिकोण से एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण हो सकता है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here