मोदी की परिकल्पना ‘मेक इन इण्डिया’ का स्वरूप होगा रेल पहिया कारखाना

0
89

रायबरेली(ब्यूरो)- राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड के निदेशक प्रोजेक्ट्स पीसी महापात्रा ने रेलकोच के समीप निर्माणाधीन रेल पहिया कारखाने का औचक निरीक्षण कर निर्माण कार्य की प्रगति का जायजा लेते हुये तैयार हो चुके पम्प हाउस टू व आरओ यूनिट का उद्घाटन भी किया।

बुधवार को निदेशक प्रोजेक्ट पीसी महापात्रा ने फोज्र्ड व्हील प्लांट के डीजीएम संजय कुमार झा के साथ निर्माणाधीन पहिया कारखाने का निरीक्षण कर कार्यदायी संस्थाओं को निर्धारित समय सीमा के भीतर गुणवत्तापूर्ण कार्य किये जाने का निर्देश भी दिया। इस मौके पर प्रेस से मुखातिब श्रीमहापात्रा ने कहा कि रेल पहिया कारखाने का निर्माण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच मेक इन इण्डिया की तर्ज पर लालगंज मे जर्मनी की कम्पनी एसएमएस द्वारा प्रारम्भ कर दिया गया है। यह कारखाना हिन्दुस्तान का लार्जेस्ट व्हील सप्लाई का कारखाना बनकर तैयार होगा।

निदेशक प्रोजेक्ट श्रीमहापात्रा ने बताया कि रेल पहिया कारखाना निर्माण मे लगी कार्यदायी संस्था के द्वारा बाउन्ड्री वाल के निर्माण के साथ साथ 850 पायलिंग का निर्माण का कार्य किया जा चुका है। पेयजल व्यवस्था के लिये दो वाटर टैंक भी तैयार हो गये है, जिनमे से एक टैंक का पानी कारखाना निर्माण के लिये प्रयोग किया जा रहा है। दूसरे टैंक के पानी को दो भागों मे विभाजित करके एक को आरओ सिस्टम से पीने के लिये व दूसरे को अन्य कार्यों के लिये उपयोग किया जा रहा है। बिजली के लिये मध्यांचल विद्युत वितरण निगम से 6 करोड का अनुबंध किया गया है। पावर सप्लाई का निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है।श्रीमहापात्रा ने बताया कि लालगंज स्थित इस फोज्र्ड व्हील फैक्ट्री मे जर्मन टेक्नोलौजी के रेल पहियों के निर्माण राष्ट्र मे पहली बार होने जा रहा है।

रिपोर्ट- राजेश यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here