मूलभूत आवश्यकताओं से दूर हैं यूपी के राजनेता, बुनियादी ढाँचे का पता नहीं, वादे बड़े-बड़े

0
146

road unnao

चकलवंशी/उन्नाव (ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश के चुनाव की रणभेरी बज गई है सभी राजनीतिक दलों दारा जनता को लुभाने के लिए तरह तरह के पैकेज देने की घोषणा की जा रही है| सभी दल अपनी-अपनी सरकार बनाने के लिए ऐडी चोटी का जोर लगाये हुए हैं लेकिन जो जनता के प्रमुख मुद्दों पर किसी भी राजनैतिक दल दारा यह नहीं बताया जा रहा है कि चिकित्सा, शिक्षा, पेयजल बिजली, सडक इन मुद्दों पर इन दलो का क्या कहना है|

स्वास्थ सेवाओं का हाल क्या है जनता से छुपा नहीं है गांवों में खोले गये पी.एच.सी. केन्द्रो पर डाक्टर आते ही नहीं तो इलाज कहाँ से हो ? प्राथमिक विद्यालयो मे एक तो शिक्षकों का अभाव है दूसरा जहां शिक्षक तैनात है वहां पढाई का स्तर कितना गिर गया है ? बच्चे खाना खाने के बाद घर निकल जाते हैं और कोई पूछने वाला नहीं है सडको का हाल क्या है यह भी बताने की जरूरत नहीं |

पता ही नहीं चलता है कि सडक मे गढ्ढे है या फिर गड्ढों में सडक ! स्वच्छ पेयजल की बात की जाये तो वह भी लोगों को नसीब नहीं हो रहा है जनपद मे फ्लोराइड की मात्रा बढ़ती जा रही है लेकिन कोई यह योजना नहीं बताता है कि स्वच्छ पेयजल कैसे उपलब्ध होगा| यही हाल गामीण क्षेत्रों में विद्दयुत का है, वह कब आती है, कब जाती है यह सब भगवान् भरोसे ही है|

इन मुद्दों पर सभी राजनीतिक दल कुछ प्लानिंग नही करते वह तो जनता को बरगालाने के लिए लैपटॉप, कर्ज माफी जैसे मुद्दे फ्री मे जनता को देने का दम्भ भर रहे जबकि कोई यह नहीं बताता है कि यह सब फ्री मे कहाँ से लाकर देंगे| क्या कोई फैक्ट्री खोल रखी है या फिर अपने घर से लाकर देगे? नहीं न यह सब तो जनता के द्वारा दिये गये टैक्स के पैसों से होगा उस पर भी इनका कमीशन होगा | जनता राजनीतिक दलों से यह मांग क्यों नहीं करती है कि हमें अच्छी शिक्षा मिले बेहतर चिकित्सा सेवा मिले पीने के लिए स्वच्छ पानी चलने के लिए गढ्ढा मुक्त सडकें नौजवानो को रोजगार मिले तभी हमारा प्रदेश आगे बढेगा।
रिपोर्ट- अशोक दुबे
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY