कला के क्षेत्र में भविष्य बनावें- श्री वीर

0
175

job-fair

विभूतिपुर/समस्तीपुर- विभूतिपुर प्रखंड के, सिंधिया घाट स्थित शहीद संजीत स्मृति क्लब परिसर में सेमिनार का आयोजन हुआ। सेमिनार का विषय था, कला के क्षेत्र में भविष्य।

सेमिनार में क्लब के सदस्यों, शिक्षको , समाजसेवियों तथा आर्ट इनसाइड इंडिया फाउंडेशन के लोगों ने भाग लिया। सेमिनार को संबोधित करते हुए, इनसाइड इंडिया फाउंडेशन के सचिव श्री वीर ने कहा कि आज देश के अंदर जो शिक्षा प्रणाली है, छात्र और अभिभावक समझते हैं, कि पढ़ लिख लेने के बाद अच्छे कैरियर के लिए, सिर्फ मेडिकल या इंजीनियरिंग का क्षेत्र ही बेहतर है। जबकि ऐसा कोई बात नहीं है।

सभी क्षेत्रों में अपार संभावना है खासकर आर्ट एंड कल्चर के क्षेत्र में और ज्यादा ही संभावना है । लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं है। लोगों को जागरुक करने तथा जानकारी देने के लिए आर्ट एंड कल्चर स्टूडेंट फेडरेशन के संयोजन में आर्ट एंड कल्चर के क्षेत्र में, कैरियर बेहतर बनाया जा सकता है। उन्होंने कई हस्तियों के बारे में उदाहरण भी दिए कि आज नाटक, मूर्ति कला, पेंटिंग , ग्राफिक्स, फोटोग्राफी, एक्टिग, डांसिंग, फिल्म मेकिंग, परफॉर्मिंग आर्ट, के अलावे कई क्षेत्रों में काफी संभावना है।

उन्होंने अपने बारे में बताएं मैं पटना आर्ट कॉलेज से BFA, विश्व भारती यूनीवर्सिटी( शांति निकेत ) से MFA के बाद अब ,जे.एन.यू. दिल्ली में , आर्ट एंड एक्टिविजन में रिसर्च करते हुए , बिहार प्रदेश के कई जिले में इसका संगठन तैयार करा कर ,लोगों को आगे बढ़ाने का काम कर रहा हूं । समस्तीपुर जिले में विगत 2 साल से प्रयासरत हूँ की कला के क्षेत्र में काम करने वालों का संगठन बने ,तथा उस पर काम करते हुए लोग , आगे बढ़े पर अभी तक इस जिले में सफलता नहीं मिली है ।

उन्होंने लोगों से अपील की, की इस क्षेत्र में काम करने वाले लोग संगठित हो , इसमें हमारा और हमारे संगठन का शतप्रतिशत सहयोग रहेगा । इसके लिए उन्होंने अपना मोबाइल संपर्क नंबर 858103 1272 तथा ईमेल नंबर veerchandra18@ .com भी नोट कराए । जिस पर संपर्क किया जा सके । संबोधन के क्रम में इन्होंने बिहार सरकार एवं केंद्र सरकार से मिलने वाली फंड के बारे में जानकारी दिए ,और कहे कि आज बिहार से राशि वापस जा रही हैं ,खर्च नहीं हो पाता है ।उन्होने बिहार सरकार के कई विभागों के बारे में बताया ,कि इस क्षेत्र में काम करने के लिए आने वाली राशि रखी रह जाती है ।

समय पर खर्च नहीं हो पाता है ।इन सब से मदद लेते हुए क्षेत्र में आगे बढ़कर कैरियर संभाला जा सकता है,पैसा और शोहरत कमाया जा सकता है । इस सेमिनार में समाजसेवीश्री प्रेम चंद्र सिंह ,अरुण कुमार, शिक्षक अमरजीत कुमार उर्फ महात्मा जी, शहीद संजीत स्मृति क्लव के संयोजक अमरदीप कुमार, मिथिलेश कुमार, दिलीप कुमार, धीरेंद्र कुमार,संजय कुमार,प्रेम कुमार, सचिन कुमार, चंदन कुमार के अलावे दर्जनों युवाओं ने भाग लिया।
रिपोर्ट- रंजीत कुमार
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY