मंत्री महोदय सैनिक अपने सम्मान के लिए नहीं देश के सम्मान…..

0
153

रक्षा मंत्री परिर्कर ने कहा ” पुराने वक्त में अगर सेना का कोई कमांडिंग ऑफिसर किसी आईएएस अफसर को पत्र लिख देता था तो उस पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाता है। आज वह सम्मान कम हो गया है। एक वजह यह है कि पिछले 40-50 साल में हमने कोई युद्ध नहीं लड़ा है। ”

manohar parikar

तो हमारे माननीय रक्षा मंत्री को यह ज़रूर पता होना चाहिए की हमारी रक्षा सेना का एक भी सिपाही कभी अपने निजी स्वार्थ या सम्मान के लिए युद्ध नही करता बल्कि हमारे दाश के गौरव और हमारी के लिए युद्ध करता है और देश में सभी सेना को हमेशा से ही सम्मान की नज़र से देखते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

twenty − nineteen =