मुख्यमन्त्री की तिरछी नजर, खनन माफिया थाने में

0
81
प्रतीकात्मक फोटो

मैनपुरी (ब्यूरो)- मुख्यमन्त्री द्वारा अवैध खनन पर तिरछी नजर करते ही कोतवाली पुलिस भी हरकत में आ गयी और खेतों से भराव के लिए मिट्टी भरकर बिना रायल्टी ले जा रहे तीन ट्रैक्टरों को कोतवाली ले जाकर खड़ा कर दिया।  पुलिस की इस कार्यवाही से खनन करने वालों में हड़कम्प मच गया है।

लम्बे समय से दूसरों के खेतों, ग्राम पंचायत की जमीन पर स्थापित टीलों और गुजर रहे नदी नालों से लगातार बिना रायल्टी जमा किये अवैध खनन करने वालों की रविवार तक चाँदी कट रही थी।  जनपद की सीमा से लगी काली नदी से हर रोज सैकड़ों ट्रैक्टर बालू अवैध खनन के जरिए जरूरतमन्दों तक भारी कीमत में बेंची जा रही थी।  डेढ़ फुट खनन की राॅयल्टी जमा करने के बाद तीन से चार फुट तक मिट्टी बालू खोदने वाले ट्रैक्टर और जे0सी0बी0 मशीनें सुबह से ही खनन स्थल पर जा पहुँचती थीं और पुलिस की सांठ-गांठ से अवैध खनन की आड़ में दूसरों की जमीन से मिट्टी उठा रही थीं।

यह जानकारी मिलने के बाद से प्रदेश के युवा मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ ने सबसे पहले इन खनन माफियाओं पर जैसे ही तिरछी नजर करते हुए कहा कि जलधाराओं और पुराने टीलों से किये जा रहे अवैध खनन के दौरान पकड़े जाने पर बीस गुना जुर्माना होगा।  पुलिस की बांछे खिल गयीं और उसने दीवानी के समीप पुसैना गाॅव की ओर से मिट्टी खोदकर बिना राॅयल्टी जमा किये बेंचने जा रहे तीन ट्रैक्टरों को पकड़कर कोतवाली में खड़ा कर दिया और उनसे राॅयल्टी की रसीद मांगी।  न देने पर उन्हें पुलिस की धाराओं से अवगत कराया है।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here