मुंबई और कोलकाता आ सकते हैं बड़े खतरे की चपेट में : यूएन रिपोर्ट

0
419

Mumbai_Masthead_2

संयुक्त राष्ट्र ने अपनी एक रिपोर्ट में आगाह करते हुए चेताया है कि मुंबई और कोलकाता पर खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है | संयुक्त राष्ट्र की वैश्विक पर्यावरण रिपोर्ट में आगाह किया गया है कि समुद्रतल में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी के चलते 2050 तक में 10 देशों की आबादी पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है
इस रिपोर्ट के अनुसार मुंबई और कोल्कता के तटीय क्षेत्रों में रह रहे 4 करोड़ लोगो का जीवन समुद्री बाढ़ से अस्त-व्यस्त हो सकता है, इस रिपोर्ट के अनुसार भारत के अलावां बांग्लादेश के 2.5 करोड़, चीन 2 करोड़ और फिलिपीन के 1.5 करोड़ लोगों को खतरा होगा |
रिपोर्ट में भारत में मुंबई और कोलकाता को, चीन में गुआंगझो और शंघाई को, बांग्लादेश में ढाका को, म्यांमार में यंगून को, थाईलैंड में बैंकाक को और वियतनाम में हो ची मिन्ह सिटी तथा हाइ फोंग को चिह्नित किया गया है जहां 2070 में तटीय बाढ़ों से सर्वाधिक बड़ी आबादी को जूझना पड़ सकता है।
ये पूर्वानुमान इसलिए अहम हैं क्योंकि 2011 में जलवायु परिवर्तन से सर्वाधिक खतरे में रहने वाले दुनिया के दस देशों में से छह एशिया और प्रशांत में माने जाते थे। रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि 2050 तक बांग्लादेश, चीन, भारत, इंडोनेशिया और फिलीपीन में ‘स्टॉर्म सर्ज जोन’ होंगे और इसके चलते पांच करोड़ 80 लाख लोगों की जान जोखिम में होगी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY