मुंबई की विशेष कोर्ट ने माल्या को भगोड़ा घोषित किया |

0
316

vijay-mallya-

बैंक ऋण मामले में देश से फरार विजय माल्या को मुंबई की एक विशेष पीएमएलए (धनशोधन निरोधक अधिनियम) अदालत ने भगोड़ा घोषित कर दिया है | अदालत ने यह फैसला प्रवर्तन निदेशालय के अनुरोध पर लिया है |

न्यायाधीश पी. आर. भावके ने अपने फैसले में कहा कि अदालत प्रवर्तन निदेशालय के मत से सहमत है और विजय माल्या को भगोड़ा घोषित किया जाता है |

प्रवर्तन निदेशालय ने सीआरपीसी की की धारा ८२ के तहत माल्या को भगोड़ा घोषित करने का अनुरोध करते किया था | ईडी का कहना है कि माल्या के खिलाफ धन शोधन कानून के तहत गैर जमानती वारंट समेत कई गिरफ़्तारी वारंट लंबित हैं |

ईडी ने अदालत को बताया कि माल्या के खिलाफ लंबित मामलों में चेक बाउंस, धन शोधन और कई अन्य मामलों में वांछित है | जांच एजेंसी ने मामलों की जांच में माल्या को शामिल करने की ज़रुरत पर बल दिया |

यदि अदालत के पास यह विश्वास करने का कारण है कि वह आरोपी जिसके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी है, फरार है या खुद को छिपा रहा है जिससे इस तरह के वारंट को क्रियान्वित नहीं किया जा सके तो उस आरोपी को आपराधिक मामले की जांच में भगोड़ा अपराधी करार दिया जा सकता है।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here