इटावा में एक पत्रकार की खबर से एसओ इस कदर बौखला गए कि अपराधियों से ही मिलकर रच डाली एक ख़ौफ़नाक साजिश

0
568

इटावा(ब्यूरो)- क्या है साजिश- पत्रकार सुशील कुमार इटावा से राजस्थान पत्रिका के लिए रिपोर्टिंग करते है। उन्होंने धड़ल्ले से चल रहे सट्टे के काले कारोबार को प्रमुखता से दुनियां के सामने रखा था। जिसकी सुई उस एरिया के दरोगा के ऊपर भी घूम रही थी इसी से भन्नाए दरोगा ने पत्रकार के घर खबर भेजी कि आपको थाने पर थानेदार ने सट्टे की खबर की पड़ताल के लिए बुलाया है।

थानेदार का फरमान सुनते ही पत्रकार सुशील कुमार अपना कैमरा, और लैपटॉप लेकर पहुंच गए। इधर सट्टे के कारोबारियों को भी इतला करदी कि जैसे ही थाने से पत्रकार बहार निकले अच्छे से सबक सिखा देना। और हुआ भी यही ।
थाने पर गए पत्रकार को देखते ही घर लौट जाने को कह दिया गया, और जैसे ही बो बाहर निकला आरोपी राजीव कुमार गुप्ता दबंग प्रधान, सुभाष गुप्ता, सतीश गुप्ता , अनिल गुप्ता व् संजू शाक्य पुत्र राम नरायण शाक्य ने हमला कर दिया। इतना ही नही उसका कैमरा, लैपटॉप, अंगूठी और बीस हजार रूपये भी लूट ले गए। और यह सब हुआ थाने के ठीक सामने, ताकि हाथ पर हाथ रखे पुलिस का रबैया भी अहसास दिलाता रहे कि पुलिस से कभी दुश्मनी मोल नही लेनी चाहिए।

अब लुटे पिटे पत्रकार सुशील कुमार ने घर जाकर तत्काल आई जी साहब को फोन पर जानकारी दी है। अब देखना है कि पत्रकार को न्याय मिलता है या सच्चाई की आवाज उठाने बाले पत्रकारो को यूँही खामोश कर दिया जाता रहेगा।

रिपोर्ट- प्रमोद झा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here