ईदगाह कमेटी के तत्वाधान में आयोजित किया गया मुशायरा

0
86

सुल्तानपुर(ब्यूरो)- देर रात शनिवार को इस्लाम मुशायरा पर जलसे का इंकाद धरावां गांव में मौलाना उस्मान कासमी के सदारत में ईदगाह कमेटी के तत्वाधान में ईदगाह परिसर में किया गया| जलसे को खिताब करते प्रोफेसर आफ़ाकी बनारस हिन्दू विश्वविदयालय। मुसलमान अल्लाह की रस्सी को पकडे अल्लाह ईश्वर ने इसलिये नही भेजा है दुनिया में कि सिर्फ दो वक्त की रोटी खाने कमाने के लिए आप दुनिया के उस धर्म इस्लाम के मानने वालो हो इस्लाम का अर्थ समझने के लिए कुरान का अध्य्यन करना पड़ेगा यहाँ उपस्थिति लोगो में दो चार लोगो को छोड़ दे तो अभी इस्लाम का माने नही बता पायेगे इसलाम का मतलब है अल्लाह के आगे समर्पित हो जाना उसके कानून का पालन करना ।जब तक हम सही मुसलमान थे तब गैरो को हमारे ऊपर इतना विश्वास था कि अपनी बहन ,बेटी,बहुत सी कीमती वस्तुएँ को आपके जिम्मेदारी पर छोड़ देता था क्योकि आप अमानतदार हुआ करते थे ।जब मुस्लिम ईमान वाले थे तो स्पेन में हजारो साल हुकूमत किय जब अल्लाह की रस्सी को छोड़ दुनिया की मेले में खो गए तो वहा से मुसलमान खत्म हो गया।

भारत मुल्क बहुत सुंदर मुल्क है यहाँ जितना लोगो ने पसीना बहाया है मुसलमानो का उससे ज्यादा खून बहाया गया। हमको विरदारने वतन से मिलकर रहने की जरूरत है नेगेटिव सोच को खत्म करो । हज़रत मौलाना अहमद शमीम साहब ने कहा दुनिया बहुत शीरी है , दुनिया अपनी और खींचती है इस दुनिया के चक्कर में लोग मदमस्त है अल्लाह अमीरो को नही देखता आपके कर्म (आमाल) को देखता है दिखावे की इबादत को अल्लाह मंजूर नही करता। इस मौके पर इसौली विधायक अबरार अहमद , प्राथमिक शिक्षक संघ कुड़वार अध्यक्ष निज़ाम खान , हाजी जलील खान , सईद अहमद , हाजी अब्दुल हाई , हादी खान , परवेज आलम शमीम अहमद , कदीर खान , इशरत खान एजाज खान मौलान तुफैल खान आदि लोग उपस्थिति रहे।।

रिपोर्ट- संतोष यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here