मंदिर के अन्दर मिली मुस्लिम समाज की चादरें, कोतवाल ने भी लांघी मर्यादा

0
174

उन्नाव(ब्यूरो)- हसनगंज कोतवाली पुलिस ने धार्मिक आस्था को किया आहत कोतवाल चप्पल पहन कर घुसे मंदिर में और विशेष समुदाय के द्वारा मंदिर में किये गए कार्यो को छिपाने की हर संभव कोशिश की गई। हसनगंज कोतवाली क्षेत्र 500 मीटर दूरी पर लखनऊ बांगरमऊ रोड पर बीती रात में अराजक तत्वों ने मंदिर में मंदिर के गेट पर आग लगाई बाद में ताला तोड़कर दानपात्र व देवी देवताओं के कपड़े चोरी किए तथा मजार की 2 दर्जन से अधिक चादरे व टोपी शिवलिंग पर डालकर विशेष समुदाय की धार्मिक आस्था को आहत किया तथा घंटों मंदिर में धमाचौकड़ी करते रहे|

सुबह पुजारी ने घटना को देखकर 100 नंबर डायल कर सूचना दी मौके पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी ने मामला गंभीर होने पर चप्पल पहन कर मंदिर में घुसकर हमराही सिपाही व दरोगा के साथ सफाई कर मंदिर से चादरे व टोपी गायब करा दी, मीडिया के सुर्खियों में आने पर एसपी रामसेवक गौतम ने घटनास्थल पर पहुंचकर FIR दर्ज करने के निर्देश दिए।

हसनगंज कस्बे से 50 मीटर दूरी पर लखनऊ बांगरमऊ रोड पर केरोसिन डिपो के पास सुन्दरेस्वर मंदिर है जिस में बीती रात विशेष समुदाय के कार्यकर्ताओं ने मंदिर का ताला तोड़कर तो दानपात्र व् देवी देवताओं के कपड़ों को उठा ले गए और हसनगंज पुलिस रात गश्त के नाम पर खर्राटे भरती रही, अराजक तत्वों ने मुख्य मार्ग पर स्थित मंदिर में घंटों धमाचौकड़ी मचाई| जिसकी पुलिस को भनक तक नहीं रही सुबह 6:00 बजे बगल के फॉर्म हाउस में सो रहे पुजारी रमेश कुमार पुत्र मिश्री लाल निवासी रानीखेड़ा खालसा जब मंदिर की साफ सफाई करने पहुंचा तो देखा कि मंदिर का ताला टूटा पड़ा हुआ था, पुजारी रमेश ने बताया कि जब मैं सुबह साफ सफाई करने मंदिर पहुंचा तो देखा मंदिर का ताला टूटा हुआ था| मंदिर के गेट पर आग जल रही थी और चबूतरे के पास भी आजकल रही थी मंदिर के अंदर 2 दर्ज़न से अधिक मजार की उर्दू अल्फाज लिखी चादरें और जालीदार टोपी शिवलिंग पर पड़ी हुई थी| जिस पर 100 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी|

मौके पर 100 नंबर पहुंची तथा घटना की जानकारी थाने में दी 100 नंबर की सूचना पाकर कोतवाली प्रभारी दरोगा व सिपाही के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामला धार्मिक होने की वजह से आनन फानन मंदिर के अंदर चप्पल पहनकर दरोगा बी.के. तिवारी व सिपाहियों के साथ चादरों व टोपियों को अपनी टीशर्ट में छुपाकर गायब करा कर तत्काल जली हुई राख को साफ करा कर अपने ही हमराही सिपाही से मंदिर की धुलाई करा दी| जिससे सारे साक्ष्य समाप्त हो गए तथा सफाई करने के बाद थाने वापस आ गए|

घटना की जानकारी मीडिया की सुर्खियों में आने के बाद asp रामसेवक गौतम ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले का मामले की जानकारी की तथा तत्काल FIR दर्ज करने के आदेश दिए| उधर मामला धार्मिक होने से घटना की सूचना जंगल की आग की तरह फैल गई और मंदिर स्थल पर लोगों का एकत्र होना शुरू हो गया और कोतवाली प्रभारी द्वारा मंदिर में चप्पल पहनकर जाने पर भगवाधारी भड़क गए और कोतवाली प्रभारी के खिलाफ नारेबाजी करते रहे| सोशल मीडिया पर मामला वायरल होने पर हिंदू जागरण मंच के प्रांतीय अध्यक्ष विमल द्विवेदी अपने साथियों के साथ मंदिर के पुजारी से व स्थानीय कार्यकर्ताओं से मिले और जानकारी ली जिस पर हसनगंज के दर्जनों लोगों ने कोतवाली प्रभारी के तानाशाही रवैया व मंदिर में चप्पल पहनकर देवी देवता का अपमान करने के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है| हिंदू जागरण मंच के प्रांतीय मंत्री श्री द्विवेदी ने ASP से फोन पर बात कर कोतवाली प्रभारी भूपेंद्र राठी व एसएसआई बीके तिवारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की मांग की, जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने बताया धार्मिक उन्माद को भड़काने व् तथ्यों को छुपाने का कार्य हसनगंज पुलिस द्वारा किया गया है| इस प्रकरण को CM योगी आदित्यनाथ तक पहुंचाया जायेगा।

मंदिर पर गुस्साए ग्रामीणों में अमर सिंह, पंडित हरीश महाराज, सुभम सिंह, राकेश साहू लालजी, लिटिल सिंह, ज्ञानेंद्र सिंह , मनीष गुप्ता सहित सैकड़ों हिन्दू समुदाय के लोग उपस्थित रहे ।

रिपोर्ट- राहुल राठौर 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here