मुस्लिम परिवार ने शादी कार्ड पर लिखवाया ‘श्री गणेशाय नम:’

0
131


बलिया-ब्यूरो : श्री राम जन्मभूमि को लेकर जहां दो समुदायों में तलवारें खींची है। इस मामले में देश की सर्वोच्च अदालत ने आपसी सौहार्द बनाने के लिए बातचीत के जरिए हल निकालने की सलाह दी है। इसी तरफ का सौहार्द बलिया जनपद के विकास खंड बेलहरी अंतर्गत पिंडारी गांव में देखने को मिला, जहां एक मुस्लिम परिवार के वैवाहिक निमंत्रण पत्र पर हिंदुओं के प्रथम पूज्य देवता का नाम वह मंत्र लिखा गया है, जबकि मुसलमान समुदाय के लोग विस्मिल्ला को याद कर 786 लिखते हैं।

देश में चंद लोग अपनी राजनैतिक रोटी सेकने के लिए भले ही हिंदू-मुसलमान की बात करते हो, लेकिन धरातल का नजारा कुछ और ही कहानी बयां करती है। यहां तो ताजिया में हिंदू भी गदका, बगईठी, बाना, सैफ, तलवार, रंग भाजते हैं, तो वहीं होली में हिंदुओं के घर का पकवान को मुसलमान खाकर मिठास के साथ गले मिलते हैं। ईद पर हिंदू सेवा ही खाना नहीं भूलता। इसी तरह पिंडारी गांव निवासी एक मुस्लिम परिवार के सिराजुदीन पुत्र मुर्तुजा के यहां 23 मार्च को वैवाहिक कार्यक्रम है। प्रीति भोज के निमंत्रण पत्र पर न सिर्फ ‘श्री गणेशाय नम:’ लिखा गया है, बल्कि हिंदुओं का शुभ का प्रतीक नारियलयुक्त कलश पर स्वास्तिक का चित्र अंकित है।

यही नहीं, खास बात यह है कि हिंदुओं के सभी शुभ कार्यों में पढ़ा जाने वाला मंत्र ‘मंगलम् भगवान विष्णु: मंगलम गरुड़ध्वज:, मंगलम् पुंडरीकांक्ष मंगलाय तनो हरि’ भी लिखा गया है। इस बावत पूछे जाने पर मुर्तुजा मियां के भतीजा मुहम्मद कियामुद्दीन ने बताया कि हम लोग हिन्दु मुस्लिम मिलकर शादी समारोह में शामिल होते हैं। मेरे द्वारा करीब 700 कार्ड वितरित किया गया है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY