“मेरे हाथ कानून से बंधे हैं नहीं तो लाखों टोपी पहनने वालों के सर कट जाएँ”: बाबा रामदेव

3
3113

रोहतक: अपनी एक आपत्तिजनक टिप्पड़ी के कारण बाबा रामदेव को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है | जी हाँ, बीते कुछ महीनों पहले रोहतक में आयोजित किए गए सद्भावना सम्मेलन में बाबा रामदेव ने कहा था कि कुछ लोग जो टोपी पहनते हैं और कहते हैं कि हम भारत माता की जय नहीं बोलेंगे चाहे उनका सर क्यों न कट जाये | उन्होंने आगे कहा, “मेरे हाथ कानून से बंधे हैं नहीं तो न जाने कितने सर कट जाएँ|”

बाबा के सार्वजनिक स्थान पर ऐसे बयान के बाद रोहतक जिला एवं सत्र न्यायालय ने योग गुरु बाबा रामदेव के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया है| बाबा रामदेव ने पिछले साल रोहतक में आयोजित एक कार्यक्रम में ये बाते कही थी जिसके बाद कांग्रेस नेता सुभाष बतरा ने रामदेव के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने का मामला दर्ज करने की अपील कोर्ट से की थी | मामले को संज्ञान में लेते हुए अतिरिक्त न्यायिक मजिस्ट्रेट हरीश गोयल ने दो मार्च को रामदेव के खिलाफ समन जारी किया था किन्तु वह अदालत में पेश नहीं हुए थे |

केस की अगली तारीख पर अदालत ने सुनवाई करते हुए रामदेव के खिलाफ जमानती वारंट जारी करते हुए १४ जून को पेश होने के आदेश भी दिए हैं | अदालत ने ज़मानत के तौर पर एक लाख रुपये निज़ी तौर पर मुचकला भरने का आदेश दिया है|

आपको यह भी बता दें कि रामदेव के इस बयान का विपक्षी दलों और नेताओं ने विरोध भी किया था और इसके लिए उनकी और बीजेपी की घोर निंदा भी की थी|

3 COMMENTS

  1. इसमेपात्तिजनक और विवादित क्या है.. क्या ढोंग्रेसी नेता ने देश के खिलाफ कहने वाले उन जानवरों के खिलाफ कभी मामला दर्ज करवाया?? हीनुओं को भड़काने वाले लोगो के खिलाफ कभी भड़कने का कोई केस दर्ज करवाया??.. वो कहें तो कहने की स्वतंत्रता..और हम कहें तो विवादित??.. उनके धर्म मे देश के खिलाफ कुछ कहने को जायज़ कहा गया है.. हमारे धर्म मे देश ही सर्वोपरि है और उसके खिलाफ कहने वाले को ना-जायज़ कहा गया है.. तो कानून दोनो तरफ बराबर माना जाना चाहिये.. यदि उनको छूट है.. तो हमे भी है.. हमे किसी की अनुमति नही चाहिये..

  2. Comment: Bilkul kuch bhi Apattijanak nahi hai, aur na Akbaruddin Owaisi ka wo bayan Apattijanak hai, jisme usne 84 crore hinduo ko kaat daalne ki baat kahi thi, Doob maro tum log agar thodi si sharm baaqi ho to, Ye Rashtrawaad ka naatak kar kar ke khoob paise bana rahe ho sab ke sab, janta ko chutiya banao, Abe sabse bade Dogle wo hain jo Bharat mata k jai karte hain, kyunki har baar bharat maa ko bechne wale, todne wale, barbaad karne wale wahi hote hain… Thekedaar banne chale hain Desh ke! Saala History hai tum sab Sanghiyo ki Gaddari ki!

  3. इसमे आपत्तिजनक और विवादित क्या है.. क्या ढोंग्रेसी नेता ने देश के खिलाफ कहने वाले उन जानवरों के खिलाफ कभी मामला दर्ज करवाया?? हीनुओं को भड़काने वाले लोगो के खिलाफ कभी भड़कने का कोई केस दर्ज करवाया??.. वो कहें तो कहने की स्वतंत्रता..और हम कहें तो विवादित??.. उनके धर्म मे देश के खिलाफ कुछ कहने को जायज़ कहा गया है.. हमारे धर्म मे देश ही सर्वोपरि है और उसके खिलाफ कहने वाले को ना-जायज़ कहा गया है.. तो कानून दोनो तरफ बराबर माना जाना चाहिये.. यदि उनको छूट है.. तो हमे भी है.. हमे किसी की अनुमति नही चाहिये..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here