“न गुंडाराज न भ्रष्टाचार” का भाजपा का दावा बलिया में पूरी तरह से खोखला

0
73


बलिया ब्यूरो : ‘न गुंडाराज न भ्रष्टाचार’ का नारा देकर सत्ता में आयी भाजपा सरकार में न तो कहीं गुंडई कम दिख रही है, न ही भ्रष्टाचार। अपराधी बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम दे रहे है। हत्या, लूट, चोरी व राहजनी के साथ-साथ महिला अपराध भी सिर चढ़कर बोल रहा है। बानगी स्वरूप सिर्फ दोकटी थाना क्षेत्र को ही देखे तो स्थिति स्पष्ट हो जायेगी। एक माह के अंदर यहां चार हत्याएं हो चुकी है, जबकि रेवती थाना क्षेत्र में हत्या कर कुंए में फेंके गये दो युवकों का शव बरामद हुआ। वहीं, बांसडीह कोतवाली में सीमेंट व्यापारी की हत्या भी पुलिसिंग की पोल खोलने के लिए काफी है। बावजूद इसके पुलिस की कार्य प्रणाली में बदलााव नहीं दिख रहा है। दो दिन पहले सपा नेता व बहुआरा के प्रधानपति सुमेर सिंह को गोलियों से छलनी कर सरेआम मौत के घाट उतार दिया गया | वह भी तब, जब उन्होंने दोकटी पुलिस से सुरक्षा की मौखिक गुहार भी किया था।

भगवानपुर में सोनू यादव की हत्या कर शव जमीन में गाड़ा गया था। नर्तकी को लेकर उपजे विवाद की शिकायत थाने पर गयी भी थी, लेकिन थानाध्यक्ष ने गंभीरता से न लेते हुए नर्तकी को इलाका छोड़ देने का फरमान सुना कर अपने र्कतव्यो की इतिश्री कर ली। सूर्यभानपुर में एक महिला की गड़ासी से काट कर हत्या कर दी गयी। वही, लक्ष्मण छपरा में पुत्र ने मां को चाकू घोप कर मौत के घाट उतार दिया। हकीकत चाहे जो हो, लेकिन पुलिस हत्यारोपित बेटे को अर्द्धविक्षिप्त बता रही है। यह तो सिर्फ बानगी भर है। हर रोज महिला अपराध भी सामने आ रहा है। लेकिन पुलिस अभी भी खामोशी की चादर ओढ़े बैठी है।

रिपोर्ट – संतोष कुमार शर्मा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY