एफआईआर न दर्ज करने पर नगर कोतवाल तलब

0
46

सुल्तानपुर- नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी करने के मामले में अदालत के आदेश के बावजूद भी एफआईआर न दर्ज करने पर एसीजेएम पंचम कीर्ति कुणाल की अदालत ने नगर कोतवाल के खिलाफ कड़ा रूख अपनाया है। अदालत ने अवमानना की चेतावनी देते हुए आगामी 20 अप्रैल के लिए कोतवाल को तलब कर स्पष्टीकरण मांगा है।

मामला कोतवाली नगर क्षेत्र का है। जहां पर 11 अगस्त 2010 को हुई घटना का जिक्र करते हुए अभियोगी प्रदीप तिवारी निवासी उदयपुर कोतवाली देहात ने मुकदमा दायर किया। जिसमें आरोप है कि अभियोगी अपने पिता कन्हैयालाल के साथ पेंशन की जानकारी लेने के लिए शहर स्थित सेंट्रल बैंक गया था। इसी दौरान आरोपी पंकज मिश्रा निवासी गाना मिश्र का पुरवा-कटका थाना गोसाईगंज ने अभियोगी को झांसा दिया कि वह मर्चेन्ट नेवी में नौकरी करता है और उसकी भी नौकरी उसी विभाग में लगवा देगा। इसी आधार पर उसने अभियोगी से ठगी की और उसे फर्जी नियुक्ति पत्र भी दिया। फिलहाल न तो अभियोगी को नौकरी मिली और न ही बाद में आरोपी पंकज मिश्रा ने रूपये ही वापस किए। इसी प्रकरण में अभियोगी की अर्जी पर कोर्ट ने बीते 21 सितंबर को मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए। फिलहाल कोतवाली नगर की महान पुलिस ने कोर्ट के आदेश को हुए कई माह बीतने के बावजूद भी मुकदमा दर्ज करना मुनासिब नहीं समझा। इस प्रकरण में अभियोगी की अर्जी पर कई बार कोतवाली से आख्या भी मांगी गई, लेकिन आख्या भी नहीं भेजी गई। जिस पर कड़ा रूख अख्तियार करते हुए न्यायाधीश कीर्ति कुणाल ने नगर कोतवाल को अवमानना के कार्यवाही की चेतावनी देते हुए आगामी 20 अप्रैल को तलब किया है एवं अब तक मुकदमा न दर्ज होने के बाबत स्पष्टीकरण भी मांगा का है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY