नही थम रहा है भ्रष्टाचार, अखिलेश हो या फिर योगी सरकार

0
71

सफीपुर/उन्नाव(ब्यूरो)- जहाँ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ इतिहास रचने में लगे हैं, वही केवल कागजो तक ही बदलाव की बयार देखी जा रही है, कहने को तो लोग यहाँ तक कहते है कि सबका साथ सबका विकास की नीति अपनाई जा रही हैं |

लेकिन इन सब नीतियों से क्या फायदा की गरीबो को अपना पेट भरने पर दर-दर की ठोकरे खानी पड़े। जबकि जनता के लोकप्रिय बिधायक हप्ते में एक बार जनता दरबार लगाते है।

इतना सब कुछ होने के बाद भी अगर किसी गरीब विकलांग व्यक्ति जिसको सुनाई भी न पड़ता हो और उसकी करीब सत्तर साल की वृद्ध माँ हो अगर फिर भी उसको उस कोटे दार द्वारा पर राशन दुकान पर रासन कार्ड होने के बाद भी राशन न मिले, जिसको लेकर दर दर की ठोकरें खानी पड़े।

हमारे क्षेत्र में राशन माफियाओं के बढ़ते प्रभाव को लेकर उनके खिलाफ कोई भी नही बोलता है। जबकि क्षेत्र में एक्का दुक्का कोटेदारो को छोड़कर सब के सब काली कमाई करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं।

इसी प्रकार की काली कमाई व राशन कार्ड में कोटेदार द्वारा हेराफेरी को लेकर सफीपुर क्षेत्र के गांव पीखी के करीब एक सैकड़ा लोग उपजिलाधिकारी से मिले औऱ पारदर्षिता से जांच करा उचित न्याय की मांग की है।

जबकि उपजिलाधकारी ने कहा कि गरीबो का हक नहीं छिनेगा, बारीकी से जांच कर काली कमाई कर रहे लोगों पर सख्त कदम उठाए जाएंगे। वही पर ग्रामीणों का आरोप हैं कि ग्राम पंचायत का कोटेदार अंत्योदय राशन कार्ड का पैतीस किलो राशन 85 के बजाय 95 रुपये लेता है और जिसमे 35 किलो राशन के स्थान पर 30 किलो ही राशन वितरण किया जाता है|

जो नियम के विरुद्ध अपराध की श्रेणी में आता है और कुछ ग्रामीणों का कहना है पात्र ग्रहस्थी का राशन पांच किलो पर यूनिट के स्थान पर चार किलो ही पर यूनिट देता है। वही ग्रामीणों का आरोप है कि कोटेदार ने पूर्ति बिभाग में रुपये देकर पात्र ग्रहस्थी करीब 120 नामो में हेरा फेरी का आरोप लगाते हुए बताया कि पात्रो को राशन नही मिल पा रहा है।

जबकि कुछ लोगो ने बताया कि कोटेदार पुत्र रौब दिखाकर कहता है कि तुम लोग मेरा कुछ नहीं कर सकते हो इसी रौब के चलते ग्रामीणों ने पुनः दुकान चयनित की जाने की मांग की है उपजिलाधिकारी के सामने करीब एक सैकड़ा लोग जिसमे मुख्य रूप से रामकली, मो यासीन, रामसेवक, शमशाद, साहबलाल, आशलमअली, लतीफ, मजूद, शिवकुमार, मारूफ आदि करीब एक सैकड़ा ग्रामीणों ने ज्ञापन दिया।

रिपोर्ट-रामजी गुप्ता 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY