शिवलिंग की स्थापना की करवाने वाले राजा और मंत्री का नाम नही पता

0
99

फतेहपुर चौरासी/उन्नाव(ब्यूरो)- क्षेत्र में दो विशाल शिवालय जो आस्था का केंद्र बने हुए हैं । कस्बा फतेहपुर चौरासी के निकट जो प्राचीन काल में एक को राजा ने बनवाया था दूसरा मंत्री ने बनवाया और शिवलिंग की स्थापना भी करवाई, शिवालय बनवाने वाले राजा और मंत्री का सही नाम पता कोई नहीं बता पा रहा है।

कुछ बुजुर्गों का मानना है। कि राजा जसा सिंह ने शिवालय का निर्माण करवाया था| लगभग 1821 में बताते चलें कि राजा जसा सिंह को एक दिन स्वपन मे शिव जी दिखे और कहा कि तुम्हारा सर्व नास होने वाला है।

राजा ने पूछा महराज क्या करे जिससे मेरे परिवार के ऊपर आने वाली मुशीबत टल सके तब शिव जी ने कहा एक शिवालय बनवाकर उसमे शिव लिंग की स्थापना करवाये तो तुम्हारी मुशीबत टल सकती है।राजा प्रात:उठकर अपनी राज्य सभा मे अपने गुरू और मंत्री को अपना स्वपन बताया जिसपर मंत्री और गुरु जी ने शिवालय बनवाने की सलाह दी तभी राजा ने शिवालय बनवाया, और उसमे शिव लिंग की स्थापना भी करवाई उसके कुछ दिनो के बाद राजा के मंत्री ने भी एक शिवालय का निर्माण करवाया राजा के शिवालय के पास ही है।

ये शिवालय फतेहपुर चौरासी कस्बे के निकट शीतला देवी मंदिर के पास है। राजा ने जो शिवालय बनवाया था उसमे कई विषेताए है।जैसे कि इस शिव लिंग की कोई भी मनुस्य प्रात:पहली पूजा नही कर पाता है।बहुत भक्तो ने पहले पूजा करने का प्रयास किया, लेकिन कोई मनुस्य प्रात: पहली पूजा नही कर पाया जब भी कोई पूजा करने पहुचता है।तो शिव लिंग पुजा हुआ मिलता है।दूसरी खास बात यह शिव लिंग दिन मे तीन रंग बदलता है यह बात स्थानीय भक्त गण बताते है। कस्बे के लोग बताते है।

इस शिवालय के ऊपर जो त्रिशूल लगा है वह सू्र्य की छाया के साथ साथ घूमता महसूस होता है।इस शिवालय के अंदर रात मे केवल भक्त ही रुक सकते बाकी कोई व्यक्ति रुकने का प्रयास अगर किया तो किसी न किसी मुशीबत मे पड जाता है।

और किसी ने इस शिव लिंग की आलोचना की तो उसका बुरा हाल हो जाता है।इस शिवालय के शिव लिंग के जो नियमित दर्शन करता है। उसकी सभी मनोकामनाए पूर्ण है । और कठिन से कठिन संकट दूर हो जाते है। ये भक्तो का मानना है। इस लिये यहां सुबह साम भक्तो की भीड लगी रहती है। भक्त पूर्ण आस्था से यहां रुद्राभिषेक और महामृत्युंजय का जप करवाकर विशेष परेशानियो से छुटकारा पाते है।

इस शिवलिंग मे आस्था रखने वाले बहुत दूर दूर से भक्तजन दर्शन के लिये आते रहते है।इस शिव लिंग मे आस्था रखने वाले कभी दुखी नही रहते है । भक्तो का मानना है । नियमित दर्शन करने वाले भक्त बालकृष्ण पांडे, विवेक पांडे,ओम प्रकाश शास्त्री,चंद्र प्रकाश शास्त्री,पवन कुमार पांडे, रमाकांत शुक्ला, रघुनाथ प्रसाद शास्त्री,रूपनारायण सेठ आदि भक्त नित्य दर्शन करते है।

रिपोर्ट-रघुनाथ प्रसाद शास्त्री

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY