नर्सिंग के छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा एपेक्स हॉस्पिटल प्रबंधन

0
59

वाराणसी (ब्यूरो)- आज वाराणसी में फर्जी डिग्री बांटने का गोरखधंधा शुरू हो गया है | प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में अभी कुछ दिन पहले एक नामचीन हॉस्पिटल प्रबंधन द्वारा किये गये फर्ज़ीवाड़े की आंच खत्म हुई थी कि उसी के बाद भिखारीपुर स्थित एपेक्स हॉस्पिटल के नर्सिंग के छात्रों ने प्रबंधन पर धोखाधड़ी का आरोप लगा कर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया और आज इन छात्राओं का आरोप रहा कि इन्हें हॉस्पिटल कैम्पस में मारा पीटा भी गया तो इन्होंने नाराज़ हो कर चक्काजाम कर दिया |

आपको बताते चलें कि इन विद्यार्थियों की लड़ाई सात अप्रैल 2017 को शुरु हुई थी। इसके बाद इन्होंने जिलाधिकारी से लेकर पीएम के संसदीय दफ्तर के चक्कर लगाए लेकिन इंसाफ नही मिला। पीएम को खून से लिखा पत्र भेजा फिर लखनऊ जाकर सीएम दफ्तर पर धरना भी दिया जिसके बाद जिला प्रशासन को कॉलेज प्रबंधन की जांच का आदेश दिया गया।

लेकिन आपको बता दें कि जिला प्रशासन ने कॉलेज प्रबंधन को क्लीन चिट दे दी। फिर भी इंसाफ की लड़ाई जारी रही। उसके बाद फिर सीएम दफ्तर जाकर सीएम का काफिला रोका। हालांकि ये जब पहली बार सीएम से मिलने लखनऊ गईं तो उनकी मुलाकात सीएम से नहीं हो पाई मगर सीएम के सचिव ने कमिश्नर वाराणसी को मामले की जांच सौंपी। स्थानीय स्तर पर एडीएम सिटी ने मामले की जांच की।

इस दौरान कॉलेज प्रशासन और महात्मागांधी काशी विद्यापीठ प्रशासन से सारे दस्तावेज दिखाने को कहा। सारी कार्रवाई करने के बाद कमिश्नर ने एपेक्स नर्सिंग कॉलेज प्रशासन को क्लीन चिट दे दी।
लेकिन छात्राओं ने हार न मानी दोबारा लखनऊ गईं और सीएम योगी आदित्य नाथ से मिलीं। सीएम ने न्याय का भरोसा दिलाया। फिर लखनऊ में सीएम के सचिव ने एपेक्स प्रशासन, विद्यापीठ प्रशासन को सारे दस्तावेज के साथ तलब किया था। लेकिन दोनों ही शिक्षण संस्थान वाजिब दस्तावेज नहीं दिखा सके। इसके बाद सचिव ने छात्राओं को लीगल एक्शन का आश्वासन दिया।

लखनऊ से लौटी छात्राएं 13 मई को पहले डीएम से मिलीं फिर लंका थाने में एपेक्स प्रशासन के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने को तहरीर दी। डीएम के पत्र के आधार पर एसओ लंका ने एपेक्स के निदेशक के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया। इस बीच छात्राओं ने कहा कि हमे अभी भी न्याय नही मिला है। कॉलेज प्रबंधन ने उनका समय तो बर्बाद किया ही साथ ही पैसे भी ऐंठे है। न्याय मिलने तक संघर्ष जारी रहेगा। डीएम ने अपेक्स नर्सिंग कॉलेज प्रशासन के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया।

इतना ही नहीं कॉलेज की छात्रा ममता कुमारी ने कॉलेज प्रशासन को 40 दिन से बंधक बनाने का आरोप लगाया। इतना ही नहीं ममता ने आज बताया की 17 मई से पत्र भेज कर माता पिता और उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही है। इस मामले में भी एपेक्स के निदेशक के खिलाफ लंका थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। लेकिन दोनों ही मामलों में अभी तक विवेचना ही चल रही है। अब देखना है कि किसको कब इंसान मिलता है |

रिपोर्ट- रवींद्रनाथ सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here