नशामुक्ति के लिए महासंघ द्वारा चलाया गया रथ जन जागृति के लिए बेतिया पंहुचा

0
224

बेतिया- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को स्वच्छ व् सुन्दर बिहार बनाने के लिए नशा बंदी कर स्वस्थ सन्देश दिया है । अनुदानित माध्यमिक विद्यालयों का संगठन बिहार प्रदेश माध्यमिक शिक्षक शिक्षकेतर कर्मचारी महासंघ ने एक कदम आगे बढ़ाते हुए 20 जनवरी को बिहार के 715 अनुदानित माध्यमिक विद्यालयो में हवन आहुति का आयोजन कर बिहार से नशा को पूर्ण बंद करने के लिए कुछ 9 हजार शिक्षक शिक्षकेतर कर्मचारी एवम 7 हजार छात्र छात्रा ने संकल्प लिया तथा 9 चरणों में नशामुक्ति कार्यक्रम की घोषणा की गयी थी। प्रत्येक विद्यालय में नशा मुक्ति पर निबंध, वाद विवाद प्रतियोगिता , प्रभात फेरी कर गांवो एवं कस्बो को जागरूक किया गया ।

आज अगले चरण की बिहार परिभ्रमण पर निकली जन जागृति रथ ऐतिहासिक धरती पशिमी चंपारण पंहुचा। हम शिक्षक का समाज कल्याण के लिए दायित्व बनता है। हमने अपने दायित्वों का निर्वहन किया है । महासंघ भविष्य में भी मुख्यमंत्री के द्वारा चलाये जाने बाले बिहार बिकास के सारे कार्यो का समर्थन करती रहेगी। उक्त बातें महासघ के प्रांतीय संजोज्क राजकिशोर प्रसाद साधु ने बेतिया में रथ रवाना से पहले समाहरणालय चौक पर सभा को सम्बोधित करते हुए कही। महासंघ के मीडिया प्रभारी आशुतोष कुमार ने बताया कि दो दिनों तक जन जागृति रथ बेतिया में लोगो को गांव गांव जा कर जागरूक करेगा।आज बेतिया में तथा कल बघहा अनुमंडल में भ्रमण करेगा।

नशामुक्ति से स्वश्च बिहार अभियान जन जागृति रथ को जदयू के माननीय पूर्व सांसद एवं जिलाध्यक्ष बैद्यनाथ महतो ने सैकड़ो शिक्षक शिक्षकेतर कर्मियों एवम जदयू के कार्यकर्ताओ के बीच हरी झंडी दिखा भ्रमण के लिए जदयू कार्यालय से रवाना किया । रवाना से पूर्व जिलाध्यक्ष ने कहा कि महासंघ ने नशामुक्ति कार्यक्रम चला कर समाज और देश के लिए मिशाल कायम कर इतिहास की रचना की।
मौके पर महासंघ के जिलाध्यक्ष असफाक अहमद ,सचिव जेप्रकासश ,रामबाबू राय मुजफ्फरपुर जिला सचिव , सुनील कुमार प्रांतीय संजुक्त सचिव , लालचंद सिंह जिला सचिव सीतामढ़ी , आदि गणमान्य ब्यक्ति उपस्थित थे।

रिपोर्ट- कुमार आशुतोष

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here