राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के खाद्यान्न का वितरण मुख्यमंत्री की प्राथमिकताओं में शामिल : डीएम

0
110

भदोही ब्यूरो : जिलाधिकारी सुरेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के त्रिस्तरीय सत्यापन व्यवस्था के क्रियान्वयन सम्बन्धित बैठक कैम्प कार्यालय सभाकक्ष में आहूत की गयी। इस अवसर पर जिलाधिकारी को जिलापूर्ति अधिकारी संजय पाण्डेय द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत सत्यापन व्यवस्था क्रियाशील है। इस सम्बन्ध में एस0डी0एम0 द्वारा 27 मार्च 2017 को आदेश के क्रम में खाद्यान्न गोदामों तथा मिट्टी तेल के बिक्रेताओं के यहॉ आमद का सत्यापन प्रथम स्टेज पर भण्डार स्थलों से सम्बन्धित उचित दर बिक्रेता का निकासी कर सत्यापन द्वितीय स्टेज तथा प्रत्येक उचित दर विक्रेता के दुकान पर खाद्यान्न/मिट्टी का तेल पहूॅचने का सत्यापन तृतीय स्टेज पर किया जा रहा है।

प्रथम स्टेज पर राजपत्रित अधिकारी द्वारा सत्यापन किया जा रहा है। जिसमें समस्त एस0डी0एम0, समस्त तहसीलदार, व जिला पूर्ति अधिकारी नामित किये गये जिनके द्वारा सत्यापन का कार्य विपणन शाखा, गोदाम केन्द्र, एवं मिट्टी के तेल गोदामों पर उचित दर बिक्रेता को खाद्यान्न/मिट्टी के तेल निकासी के समय आपूर्ति निरीक्षको की तैनाती की गयी है। जिनके समक्ष आवंटित वस्तुओं की निकासी की गयी है। नगरीय क्षेत्रों में आपूर्ति निरीक्षक तथा ग्रामीण क्षेत्रों में क्षेत्रीय अधिकारी ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा सत्यापन का कार्य किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि प्रथम एवं द्वितीय स्तर पर नियुक्ति अधिकारियों के लिंक अधिकारियों की भी नियुक्ति की गयी है। ताकि किसी अधिकारी के अनुपस्थिति के कारण कार्य में कोई बॉधा न पड़े। जिस पर जिलाधिकारी ने समस्त एस0डी0एम0/जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिया कि इसपर सर्तकता की दृष्टि रखेगे। तीनो स्तर पर सत्यापन के सत्यापन का कार्य पूरी सतर्कता व ईमानदारी से हो, तथा किसी भी दशा में टेबल सत्यापन न हो, तथा नियत स्थल पर भौतिक सत्यापन ही किया जाये। तथा तीनों स्तर पर आवंटन व फोटोग्राफी भी करायी जाये।

दिनांक 27 अपै्रल 2017 को अपराह्न 3बजें समस्त एस0डी0एम0 अपने तहसील क्षेत्र में द्वितीय एवं तृतीय स्तर के सत्यापन कर्मियों की बैठक करेगें तथा उन्हे आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया। समस्त एस0डी0एम0 तथा जिला पूर्ति अधिकारी स्वयं भी सैम्पल के रूप में स्वयं का सत्यापन करेगें। तथा यदि सत्यापनकर्ता अधिकारी द्वारा गलत सत्यापन किया गया है तो उनके विरूद्ध कार्यवाही हेतु सूचना उपलब्ध जायेगी। खाद्यान्न का सत्यापन प्रत्येक दशा में महीने कि 5 तारीख को पूर्ण कर लिया जाये। जिलाधिकारी ने सत्यापनकर्ता अधिकारी को निर्देश दिया कि सत्यापन के समय अनिवार्य रूप से गांव के कुछ कार्ड धारक तथा यथासम्भव गांव के प्रशासनिक समिति व उचित दर कि दुकान से सम्बन्धित सतर्कता समिति के सदस्य अथवा ग्राम प्रधान भी उपस्थित रहे। बैठक में सभी सत्यापन कर्ता अधिकारी को भौतिक सत्यापन हेतु प्रारूप भी उपलब्ध कराये जाये। नियत प्रारूप पत्र के साथ संलग्न कर उपलब्ध कराये जाये। तथा प्रारूप कि प्रतियां प्रत्येक उचित दर कि दुकान पर रक्षित रखी जायेगी, ताकि किसी भी औचक सत्यापनकर्ता द्वारा सत्यापन आख्या एस0डी0एम0/जिलापूर्ति अधिकारी को उपलब्ध करायी जाय। तथा प्रत्येक माह कि 5 तारीख के उपरान्त विकास खण्डों में ग्राम पंचायत अधिकारी ग्राम पंचायत विकास अधिकारी कि प्रथम बैठक में तथा तहसील में से लेखपाल भी प्रथम बैठक में ही उक्त सत्यापन आख्या प्राप्त कर उन्हें समलित किया जायेगा। सम्बन्धित विडीओं द्वारा सत्यापन आख्या सम्बन्धित एस0डी0एम0 को उपलब्ध करायी जायेगी। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिकारी 2013 के अन्तर्गत अंत्तोदय एवं पात्र गृहस्थी के कार्ड धारको को शत्-प्रतिशत खाद्यान्न का वितरण मुख्यमंत्री कि प्राथमिकताओं में सम्मिलित है, इस योजना में कोई शिथिलता क्षम्य नही होगी। 

रिपोर्ट – पी. एन. शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here