मुख्यमंत्री के आदेश का हो रहा उल्लंघन

0
78


कबरई (महोबा ब्यूरो) : मनमानी से चल रहे है प्राथमिक विद्यालय।अपनी मनमर्जी से चलाया जा रहा विद्यालय जो कि हर विद्यालय मे कबरई के प्राथमिक विद्यालय मे खाना बनने की अलग अलग सूची है और सूची के मुताबिक हर विद्यालय मे अलग अलग खाना बनता है प्राप्त सर्वे से पता चला है कि किसी विद्यालय मे अध्यापक ज्यादा है तो बच्चे कम,और किसी मे बच्चे ज्यादा तो अध्यापक कम।


जो कि धांधा गिरी व लापरवाही का संकेत साफ समझ आ रहा है जो प्राथमिक विद्यालय धक्का लगा चलाया जा रहा है, एक बात और बच्चो के स्कूल बैग पर पूर्व मुख्यमंत्री की फोटो छपी है जो बेहद जानकारी को दर्शाता है किसी मे अध्यापक की कमी के चलते बच्चे स्वंय अपनी कक्षा चलाते है। कबरई के हर प्राथमिक विद्यालय का सर्वे किया जिससे पता चला की न तो विद्यालय वालो को सफाई तथा व्यवस्था से मतलब है और न ही सफाई व पानी वाले हैंडपम्प जो विद्यालय के अन्दर लगे है वो भी काफ़ी समय से खराब पडे हुऐ है जिसकी सुध न तो वार्ड मेम्बर को है और न कबरई नगर पन्चायत को है। विद्यालय के प्रधानाचार्य ने कई बार इसकी यानि पानी तथा स्कूल के पास पडी गंदगी की शिकायत कबरई नगर पन्चायत को दी है लेकिन अभी तक उसकी सुध नहीं ली गई। मोदी व योगी जी ने सब पर हंटर चला दिया लेकिन शायद कुछ छूट गऐ है।


प्राथमिक विद्यालयों का हाल क्या यह जानें
प्राप्त निरक्षण के उपरान्त हमने जाना व यह जानकारीया प्राप्त हुई कि कहां कैसा हाल है कि कबरई प्रा.वि.विवेक नगर यहाँ पर पढाने के लिऐ अध्यापक 5 है और बच्चे99,प्रा.वि.मराठीपुरा अध्यापक 2 तथा बच्चे87,कन्या प्रा.वि.गौहारी अध्यापक 6 व बच्चे120,प्रा.वि.गांधी नगर अध्यापक 6 व बच्चे17,प्रा.वि.भगत सिंह नगर अध्यापक 4 व बच्चे107 ऐसा कुछ जाना साथ सफाई व बच्चो के पानी व्यवस्था जो की कई मे नल ही बन्द पडे है कुछ मे तो गंदगी,फर्स खुदी हुई विद्यालय के बगल मे लगा कूडे का ढरे बाथरुम मे सीटो का बुरा हाल आदि ऐसी लापरवाही दिखी चाहे वह शासन व प्रसाशन व विद्यालय के संचालको में। लेकिन क्या कर सकते है उनसे कुछ पूछा जाता है तो सरकार को कोसते है और हम जैसे पत्रकार बन्धु विद्यालय के इन सब की स्थिति के बारे में पूछते है तो झडप दिखा हमसे ही पूछते है कि आपके पास आदेश कहा से आया जो भी है,जैसा है आपके सामने है।।
खैर हम पर आदेश आता हो न आता हो लेकिन थोड़ी मेहनती निरिक्षण के बाद इतना तो पता चल ही गया की प्राथमिक विद्यालयो की क्या स्थिति है भईया । सब भगवान भरोसे

रिपोर्ट – प्रदीप मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here