किताब का दावा आज़ादी के बाद तीन दशकों तक उत्तर प्रदेश में थे नेता जी सुभाष चन्द्र बोस |

0
606

लेखक और पत्रकार अनुज धर की पुस्तक “व्हाट हैपेंड टू नेता जी” में 1950 से 1980 तक नेता जी के उत्तर प्रदेश में गुमनाम साधू के रूप में रहने का दावा किया गया है | इस पुस्तक का विमोचन ब्रिटेन में हुआ है |

नेता जी के जीवन से जुड़े रहस्यों पर छानबीन करने वाले इस लेखक ने कहा कि सरकार के संपर्क में रहे एक उच्चपद के सूत्र ने मुझे बताया कि भारत के प्रधानमंत्री के पास नेता जी से जुडी एक अतिगोपनीय फाइल है |

Subhash Chandra Bose

अपनी पुस्तक में लिखाक ने कहा “फाइल में यह स्वीकार किया गया है कि फैजाबाद में साधू के वेश में रह रहे भगवन जी वास्तव में नेता जी ही थे और सरकार ने लगातार उनसे संपर्क बनाये रखा था | उत्तर प्रदेश के राज्य मंत्री, केन्द्रीय मंत्री, गुप्तचर और ख़ुफ़िया अधिकारी विभिन्न विषयों पर उनकी सलाह लेने और उनपर नज़र रखने जाया करते थे | लेखक ने किताब में यह भी दावा किया है कि भगवन जी के डांट के डीएनए टेस्ट की जांच रिपोर्ट में भी अधिकारीयों ने हेरफेर किया था |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here