काल के क्रूर हाथों ने, नवविवाहिता की मांग उजाड़ दी

0
82


औरैया ब्यूरो : सहार थाना बेला क्षेत्र पुरवा सुजान में अलख सुबह एक दर्दनाक हादसे में युवक की मौत हो गई। सुजान पुरवा गांव निवासी चन्द्र शेखर राजपूत के तीन पुत्रो में सबसे छोटा मुलायम सिंह 23 वर्ष नही जानता था कि आज सुबह के तीन बजे खेतों में धान की पौध डालना उसकी मौत का सामान बन जायेगा।

विगत माह की 6 मई को मुलायम की शादी बसोक जालौन निवासी राधाकृष्ण की पुत्री वन्दना के साथ बड़े ही खुश मिजाज अंदाज में सम्पन्न हुई थी। तब क्या कोई जानता था कि वन्दना के हाथों की मेहंदी भी फीकी नही पड़ी और भगवान ने उसे विधवा कर दिया।
आज सुबह 3:15 पर मुलायम अपने खेतों पर पड़ी धान की पौध को देखकर वापस अपने घर पर आ रहा था कि पीछे से आ रहा अज्ञात ट्रक उसे रौंदते हुए चला गया। आधे घण्टे तक किसी को कुछ पता ही नही चला । सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना के 1घण्टे बाद पुलिस का पहुँचना उसकी सम्वेदनाओं को दर्शाता है।

बेला थानाध्यक्ष बलराज शाही का फोन बंद था, पूछने पर बताया कि नेटवर्क की समस्या की वजह से फोन नही लगा। घटनास्थल से महज 100 मीटर की दूरी पर खड़ी डायल 100 का फोन भी बंद था। वैसे अवैध खनन की सूचना पर 10 मिनट में पहुँचकर उगाही करने वाली डायल 100 निष्क्रिय दिखी।

कुछ भी हो लेकिन वन्दना का घर तो बसने से पहले ही उजड़ गया। मौके पर पहुँचे सीओ लालता प्रसाद शुक्ला ने ग्रामीणों को समझाकर लाश का पंचनामा करवाया, बाद में ग्रामीणों की इच्छानुसार SDM विजय प्रताप जी को मौके पर बुलवाया गया। SDM महोदय ने शांति बनाए रखने और मृतक के परिजनों को उचित सहायता दिलाने का आश्वासन दिलाया ।

रिपोर्ट : मनोज कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here