पठानकोट हमले की जांच के लिए अगले महीने भारत आ सकती है पाकिस्तानी जांच टीम

0
210

इस्लामाबाद- पंजाब के पठानकोट वायुसैनिक अड्डे में जनवरी में हुए आतंकवादी हमले में जैश-ए-मोहम्मद की भूमिका के संबंध में जानकारी जुटाने के लिए पाकिस्तानी जांच दल अगले महीने भारत आ सकता है। एक वरिष्ठ राजनयिक ने पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ को कल बताया कि जांच दल भारत जा सकता है लेकिन यात्रा की तिथि अभी निर्धारित नहीं की गई है।

देखें – पाकिस्तान ने भारत के सभी दावों की एक बार फिर से उड़ाई धज्जियाँ, कहा पठानकोट हमले में नहीं है जैश-ए-मोहम्मद का हाथ

बता दें कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की पुलिस के आतंकवाद निरोधक विभाग ने पठानकोट में हुए हमले के संबंध में कल एक प्राथमिकी दर्ज करायी थी जिसके बाद छह सदस्यीय जांच दल के भारत आने का रास्ता साफ हो गया है। आपको यह भी ज्ञात हो कि पठानकोट हमले के बाद इस जांच दल का गठन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने किया था। पंजाब प्रांत के आतंकवाद निरोधक विभाग के अतिरिक्त महानिरीक्षक राय ताहिर की अगुवाई वाला दल भारत के उन आरोपों की जांच करेगा जिसमें उसने कहा था कि दो जनवरी को हुए आतंकवादी हमले में आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ था। इस हमले में सात सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे और छह हमलावर मारे गए थे।

इसे भी पढ़ें – हाफिज सईद ने दी पठानकोट दोहराने की धमकी

यह जांच दल घटनास्थल जाकर साक्ष्यों को एकत्रित करेगा। गुरुवार को पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर के साथ बैठक करके उन्हें हमले के मामले में प्राथमिकी दर्ज किये जाने के संबंध में जानकारी दी थी। प्राथमिकी दर्ज होने से जांच को आगे बढ़ाने का कानूनी आधार तैयार हो जाएगा। पाकिस्तानी जांच दल अपनी यात्रा के दौरान भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से भी मुलाकात करेगा। पठानकोट हमले की जांच एनअाईए कर रही है। पाकिस्तान से सहयोग का निर्णय श्री डोभाल की अध्यक्षता में नयी दिल्ली में आयोजित एक बैठक में लिया गया था। इस बैठक में पाकिस्तानी दल के यहां आने के मामले में भी विचार विमर्श किया गया।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY