राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने अपना 22वां स्‍थापना दिवस मनाया

0
389

nhrc2

राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने आज अपना 22वां स्‍थापना दिवस मनाया। राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग की स्‍थापना 12 अक्‍टूबर, 1993 को मानवाधिकार संरक्षण (पीएचआर) अधिनियम, 1993 के अंतर्गत हुई थी। मानवाधिकार से संबंधित उभरते हुए मुद्दों पर मीडिया के साथ चर्चा के लिए, आयोग द्वारा नई दिल्‍ली में एक वार्तालाप का भी आयोजन किया गया था।

पिछले वर्ष के दौरान दर्ज मामलों के बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए, आयोग के कार्यवाहक अध्‍यक्ष न्‍यायाधीश श्री साइरेक जोसेफ ने बताया कि पिछले वर्ष (अक्‍टूबर 2014 से अक्‍टूबर 2015) में आयोग ने 1,15,896 मामले दर्ज किए इनमें से 95,563 मामलों का निपटान किया। उन्‍होंने यह भी जानकारी दी कि सबसे अधिक मामले उत्‍तर प्रदेश राज्‍य में दर्ज किये गये इसके पश्‍चात ओडिशा, हरियाणा, दिल्‍ली, बिहार, राजस्‍थान और मध्‍य प्रदेश रहे। अपनी शुरूआत से अब तक आयोग ने कुल 15,02,398 मामले दर्ज किये हैं। आयोग बंधुआ और बाल मजदूरी, स्‍वच्‍छ वातावरण, स्‍वास्‍थ्‍य, बंधकों और महिलाओं के अधिकारों के साथ-साथ अन्‍य संबंधित मानवाधिकार मुद्दों से संबंधित मानवाधिकार उल्‍लंघनों के समाधान के लिए कार्य कर रहा है।

न्‍यायाधीश श्री साइरेक जोसेफ ने यह भी बताया कि मीडिया भी मानवाधिकार के संरक्षण की दिशा में अहम भूमिका निभा रहा है। मीडिया प्रत्‍यक्ष अथवा अप्रत्‍यक्ष रूप से आयोग की जानकारी में मानवाधिकार के उल्‍लंघन से जुड़े मामलों को लाता है और जिन पर आयोग स्‍वत संज्ञान ले सकता है। उन्‍होंने आयोग के कर्मचारियों के मानवाधिकारों की सुरक्षा का भी आहवान किया। उन्‍होंने जानकारी दी कि इस संदर्भ में एक गोलमेज सम्‍मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

एनएचआरसी के अन्‍य सदस्‍यों न्‍यायाधीश श्री डी.मुरूगेसन और श्री एस.सी.सिन्‍हा भी इस वार्तालाप के दौरान उपस्‍थित थे।

इस अवसर पर, एनएचआरसी सांयकाल को एक कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है और इस कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि नोबेल पुरस्‍कार विजेता श्री कैलाश सत्‍यार्थी होंगे। इस अवसर पर मानसिक रूप से अक्षम बच्‍चों की संस्‍था आशा किरण के बच्‍चों द्वारा एक सांस्‍कृतिक कार्यक्रम की प्रस्‍तुति की जाएगी। इसके अलावा सूचना और प्रसारण मंत्रालय के गीत और नाटक प्रभाग के कलाकारों के साथ प्रदर्शन कलाओं और मानक कलाओं की एसोसिएशन (एएलपीएएनए) द्वारा भी एक सांस्‍कृतिक कार्यक्रम की प्रस्‍तुति की जाएगी।

Source – PIB

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

fifteen + sixteen =