आत्मघाती हमलावर ने भीड़ के बीचो-बीच घुस खुद को उड़ाया, 21 लोगों की मौत

0
175

अबुजा. नाइजीरिया के कानो राज्य में एक सुसाइड अटैक में 21 लोगों के मारे जाने की खबर मिली है। एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक यह घटना उस दौरान की है जब राज्य में शिया मुसलमानों का एक जुलूस निकाला जा रहा था। विस्फोट के दौरान काफी भीड़ थी इस वजह से कई लोगों के घायल होने की बात की जा रही है। अभी तक किसी भी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन शिया संगठन ने इसके पीछे बोको हरम का हाथ माना है।

घटनास्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों और आयोजकों ने बताया कि एक व्यक्ति को बम के साथ गिरफ़्तार किए जाने के कुछ देर बाद ही धमाका हो गया। इस्लामिक मूवमेंट ऑफ नाइजीरिया के मोहम्मद तुरी के अनुसार इस हमले में कई लोग घायल भी हुए हैं। हमलवार भीड़ में घुस गया और पकड़े जाने से पहले ही उसने विस्फोट कर दिया।

बता दें कि यह वार्षिक जुलूस सात दिनों तक चलता है और धमाके के बाद भी लोगों ने इसे जारी रखा। तुरी ने बताया, हमें ज़रा भी आश्चर्य नहीं है कि हम पर इस तरह का हमला किया गया, इस तरह के हालात पुरे देश में हैं।

उन्होंने बताया, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि हम धार्मिक रीति-रिवाजों को मनाना छोड़ देंगे। नाइजीरिया में पिछले छह सालों से बोको हराम ने कई चरमपंथी हमलों को अंजाम दिया है। इमसें हज़ारों लोग मारे जा चुके हैं और क़रीब 20 लाख लोग बेघर हुए हैं।

सुसाइड अटैक के लिए आए थे दो बॉम्बर : 

-हादसा कानो की राजधानी से 20 किमी दूर एक गांव में हुआ।

-शिया मुसलमान एक सालाना धार्मिक जलसे में शामिल हो रहे थे।

-नाइजीरिया में ज्यादातर सुन्नी मुसलामानों की आबादी है। कई मौकों पर सुन्नी और शियाओं के बीच हिंसक झड़प के मामले सामने आए हैं।

 

 

चरमपंथी संगठन बोको हरम के बारे में :

 

-बोको हरम नाइजीरिया स्थित इस्लामिक चरमपंथी ग्रुप है। ईस्टर्न नाइजीरिया इसका गढ़ माना जाता है। अबु बकर शेकू इसका सरगना है।

-इस ग्रुप को दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस का सपोर्ट हासिल है। पश्चिमी शिक्षा को पाप का कारण मानने वाला यह आतंकी ग्रुप शरिया कानून के तहत इस्लामिक स्टेट स्थापित करना चाहता है।

-बोको हरम ईसाइयों और सरकारी ठिकानों पर घातक हमला करने के लिए जाना जाता है।

-एक आंकड़े के मुताबिक, 2014 में बोको हरम के हमलों में करीब 10 हजार लोगों की मौत हो गई।

-बोको हरम में सात से 10 हजार के करीब लड़ाके हैं। धीरे-धीरे यह अन्य अफ्रीकी देशों जैसे चाड, नाइजर और उत्तर कैमरून में अपनी जड़ें जमा चुका है।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

2 × one =