नाईट गार्ड के भरोसे पशुओं की जिंदगी

0
127

चाँदन/बाँका- चाँदन पशु अस्पताल में दो वर्षो से कोई डॉक्टर नहीं है।जिसके चलते पशुपालक पशु की बिमार होने पर झोला छाप डॉक्टर के हाथों पशु की उपचार कराने के लिए लाचार है।

पशु अस्पताल मवेशी को लाने पर अक्सर अस्पताल बंद पड़ा मिलता है।लाचार पशुपालक नाईट गार्ड कृष्णनंदन यादव के हाथों उपचार कराते है। एक वर्ष पूर्व एक घोड़े की मौत समुचित उपचार के आभाव में हो गया था।

चाँदन अस्पताल में इन दिनों पशुधन प्रवेक्षक अशोक कुमार,मो०केसर ,नाईट गार्ड कृष्ण नंदन एवं डॉक्टर मो०एजाज के भरोसे चल रहा पशु स्वास्थ केंद्र चल रहा है। डॉक्टर मो०एजाज ने बताया मो०एजाज बाँका ऐ०एच०ओ०एवं चाँदन अस्पताल में अतिरिक्त प्रभार में है। 50किलो मी०दुरी तय कर के दो जगह संभालने परेशानी होती है। जिस कारण से कहीं एक ही अस्पताल पहुँच पाते है।
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here