20 सितम्बर से गंगा को स्वच्छ करने के पांचवे चरण की होगी शुरुवात : डॉ. पंड्या

0
188

484934-pranav-pandya
उत्तराखंड : अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने  निर्मल गंगा जन अभियान की राष्ट्रीय संगोष्ठी के प्रथम सत्र में बताया कि निर्मल गंगा जन अभियान के अंतर्गत गोमुख से गंगासागर तक 2525 किमी की दूरी तय करने वाली माँ गंगा को निर्मल व अविरल बनाये रखने की योजना के अंतर्गत पाँचवां चरण 20 सितम्बर से प्रारंभ होगा। इसके अंतर्गत उद्गम से लेकर समुद्र में विलय तक गंगा के तटों पर बड़े स्तर पर सफाई अभियान एवं वृक्षारोपण किये जायेंगे। इस योजना में गायत्री परिवार के लाखों परिजन जुटेंगे।

डॉ. पंड्या ने कहा पतित पावनी माँ गंगा की समग्र स्वच्छता को लेकर शांतिकुंज में अलग से एक प्रकोष्ठ स्थापित किया जायेगा, जो इस अभियान में जुटे स्वयंसेवियों को निरंतर मार्गदर्शन देगा। गंगा के तटों एवं घाटों को शुद्ध बनाये रखने के लिएगंगा के निकटवर्ती गांवों में गंगा प्रज्ञा मण्डलों का गठन किया जाएगा। प्रत्येक घर में देवस्थापना एवं गंगाजल प्रतिष्ठित करने की योजना है जिसमें हर आयु-वर्ग के लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की जायेगी तथा स्कूल, कॉलेजों के विद्यार्थियों को भी इस अभियान में जोड़ा जायेगा।

डॉ. पण्ड्या ने कहा कि गंगा में सीवर लाइन, घाटों में साबुन व अन्य कूड़ा-करकट डालने से रोकने के लिए व्यापक जनजागरण किया जाएगा और इसके लिए दस हजार से अधिक साइकिल यात्रा निकाली जायेंगी। गंगा के दोनों तटों में बड़ी संख्या में वृक्षारोपण भी किये जायेंगे। उन्होंने गंगा के निकट बायो डायेस्टर, केमिकल शौचालय बनाने की बात भी कही।

निर्मल गंगा जन अभियान की संगोष्ठी में देश के कोने-कोने से आये प्रतिनिधि मण्डलों ने भाग लिया।वरिष्ठ कार्यकर्त्ता कालीचरण शर्मा, केपी दुबे आदि ने भी गंगा की सफाई के पांचवे चरण को लेकर अपने विचार रखे |

रिपोर्टर – दीक्षा रावत (उत्तराखंड)

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY