⁠⁠नियोजित शिक्षको का नियम विरुद्ध वेतन भुगतान रोकना नए डीपीओ के लिए बड़ी चुनौती

0
176

दरभंगा(ब्यूरो)- जिले में प्राथमिक से लेकर उच्चत्तर माध्यमिक तक के नियोजित शिक्षकों को लाखों रुपए का प्रतिमहिना अनियमित वेतन भुगतान किया जा रहा है । इस अनियमित भुगतान को रोकना स्थापना डीपीओ महेश प्रसाद सिंह, और माध्यमिक के डीपीओ रामाश्रय राय के लिए बड़ी चुनोती होगी ।

जिला शिक्षा पदाधिकारी दरभंगा के स्थापना शाखा के पत्रांक 2363 दिनांक 19 /12 /2015 को इस प्रकार पत्र निकाला गया ” राज्य सरकार के संयुक्त सचिव शिक्षा विभाग बिहार, पटना के संचिका सं 1811 दिनांक 22 /9 /2015 एवं शुद्धि पत्र 1900 दिनांक 3/ 10 /2015 के आदेशानुसार अंकित कर संबंधित नियोजन इकाई अंर्तगत नियोजित उच्च माध्यमिक /माध्यमिक शिक्षको एवं पुस्तकालयाध्यक्ष का दिनांक 1 7 2015 के उपरांत नियोजन एवं प्रशिक्षित उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षको एवं पुस्तकालयाध्यक्षो को वेतन के साथ ग्रेड पे की देयता उनकी सेवा के दो वर्ष होने के उपरांत तथा दो वर्षों के उपरांत तीसरे वर्ष से अनुमान्य वेतन व्रिधि देय होगा। ” लेकिन यहाँ के नियोजित शिक्षकों ने नियुक्ति के प्रथम वर्ष से ही 3% का इंक्रीमेंट प्राप्त कर वेतन भुगतान प्राप्त कर रहे है ।

जिससे सरकार को लाखों का चूना लग रहा है । दूसरी ओर सरकार के पत्रांक 1530 दिनाक 11 /8/ 2015 के अनुसार पूर्व की सेवा के लिए तीन साल पर एक इंक्रीमेंट देय होगा । इसमें भी यहाँ के शिक्षक अनियमित वेतन भुगतान प्राप्त कर रहे है । जिससे सरकार को लाखों का चूना लग रहा है । यदि किसी शिक्षको का नियोजन 2007 में अप्रशिक्षित के रूप में हुआ है और वह 2012 में या उसके बाद प्रशिक्षित हुआ है । वैसे शिक्षको का पूर्व की सेवा के लिए प्रशिक्षण के पूर्व का इंक्रीमेंट अप्रशिक्षित को देय इंक्रीमेंट ही देय होगा । लेकिन उस अवधि का भी यहाँ के शिक्षक प्रशिक्षित का देय इंक्रीमेंट प्राप्त कर रहे है । उदारण स्वरूप किसी शिक्षक की नियुक्ति अप्रशिक्षित के रूप में 4/ 12 /2007 को हुआ ।तथा वह 12 /8 /2012 को प्रशिक्षित हुआ ।

इसका सरकारी आदेशानुसार प्रथम इंक्रीमेंट 1/ 7 /2010 को तथा दूसरा इंक्रीमेंट 1/ 7 /2013 तथा तीसरा इंक्रीमेंट 1 /7 /2016 को मिलेगा इसके बाद उसे प्रति वर्ष इंक्रीमेंट मिलेगा ।वह नियोजित शिक्षक 2010 में अप्रशिक्षित था इसिलए उसे प्रथम इंक्रीमेंट अप्रशिक्षित का मिलेगा ।लेकिन यहाँ नियोजित शिक्षक सभी इंक्रीमेंट प्रशिक्षित वाला उठा रहे है ।1 जुलाई 2015 के बाद नियुक्त शिक्षको को personal pay देय नही है क्योंकि उनकी नियुक्ति वेतनमान में हुई है ।लेकिन इसके बाद नियुक्त शिक्षक भी persanal pay लेकर सरकार को लाखों की चुना लगा रहे है ।
वही लोकसूचना पदाधिकारी ने अपने पत्रांक 1264 दिनांक 8 /5 /2017 और पत्रांक 1341 दिनांक 18 /5 /2017 के द्वारा सूचना के अधिकार के तहत सूचना दी है कि नियोजित महिला शिक्षिकाओं को 135 दिन ही मातृत्व अवकाश देय है । लेकिन दरभंगा जिले में BEO, प्रधानाध्यापक द्वारा उगाही कर 180 दिन का मातृत्व अवकाश स्वीकृत कर दिया गया । इस अनियमित भुगतान से भी सरकार को लाखों का चूना लगा है । नए डीपीओ को इन अनियमित भुगातन को रोकना बड़ी चुनौती होगी । बताया जाता है कि डीपीओ स्थापना महेश प्रसाद सिंह, डीपीओ माध्यमिक रामाश्रय राय इसमें सक्षम साबित होंगे ।

रिपोर्ट-कुमार आशुतोष

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY