नकल की नहीं होगी गुंजाइश : रमेश

0
153


बलिया-ब्यूरो : जिले में बोर्ड परीक्षा में हो रही खुले आम नकल पर जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश सिंह ने बताया कि इस वर्ष नकल कराने वाले परीक्षा केन्द्रों को ब्लैक लिस्टेड करके शासन ने साफ तौर पर दर्शा दिया है कि इस बार बोर्ड परीक्षा में नकल की कोई गुंजाइश नहीं रहेगी। बोर्ड परीक्षा को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है। जनपद के 315 केन्द्रों पर कुल 4134 शिक्षकों की तैनाती की जाएगी। इस बार बोर्ड परीक्षा ड्यूटी में गैर जनपदीय अथवा प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों की ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी। बोर्ड परीक्षा में वित्तविहीन विद्यालय के 1772 शिक्षकों के साथ ही 2362 वित्तीय शिक्षकों की पैनी नजर बनी रहेगी। बोर्ड परीक्षा में नकल पर नकेल कसने के लिए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर एक पर्यवेक्षक की ड्यूटी लगाई जाएगी। इसके साथ ही जिले के 23 संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों स्टैटिक मजिस्ट्रेट तैनात रहेंगे। जिले के पांच तहसील क्षेत्रों में 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट नजर बनाए रखेंगें। प्रत्येक तहसील क्षेत्र में दो सचल दस्ता की तैनाती की गई है, जो परीक्षा के दौरान भ्रमण करते रहेगें। सचल दस्ता का नेतृत्व माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के प्रधानाचार्य करेंगे। डीआईओएस ने बताया कि परीक्षा के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाऐंगे।

तीस प्रतिशत परीक्षा केन्द्र अंधेरे में

जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश सिंह ने स्वीकार किया कि जिले के तीस फीसदी परीक्षा केन्द्र आज भी अंधेरे में है। उन परीक्षा केन्द्रों पर बिजली और पानी के साथ ही परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों के बैठने की माकूल व्यवस्था नहीं है। उन्होने कङी चेतावनी देते हुए कहा कि बोर्ड परीक्षा के दौरान जिन परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षार्थियों के बैठने के पुख्ता इंतजाम और खिड़की, दरवाजे व्यवस्थित नहीं मिले, उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हे डी-वार कर दिया जाएगा।

परीक्षा में नहीं लगेगें सीसीटीवी
जिला प्रशासन की लाख कवायदों के बावजूद इस बार भी बोर्ड परीक्षा बिना सीसीटीवी की निगरानी में होगी। परीक्षा के दौरान सीसीटीवी का अभाव भी नकल के पहिए को चलाने में एक कारगर माध्यम साबित हो रहा है। सीसीटीवी कैमरा न रहने से परीक्षा के दौरान नकल के सहारे परीक्षा पास करने वाले परीक्षार्थियों और नकल कराकर अपनी जेब गर्म करने वालों के भी हौसले बुलंद है। इस सन्दर्भ में डीआईओएस ने बताया कि परीक्षा के दौरान सीसीटीवी कैमरे लगवाने के लिए निरन्तर प्रयास किया जा रहा है।

परीक्षा केन्द्रों का दायरा घटा

इस वर्ष बोर्ड परीक्षा में परीक्षार्थियों को शासन ने काफी राहत दी है। व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के लिए दूर-दराज के गांवों में सुनिश्चित होने वाले परीक्षा केन्द्रों का दायरा घटाकर शासन ने 15 किलोमीटर कर दिया है। इसके साथ ही महिला परीक्षार्थियों के लिए यह दायरा महज 5 किलोमीटर कर दिया गया है। शासन के आदेशानुसार व्यक्तिगत परीक्षार्थियों को अब सुदूर गांव में बने परीक्षा केन्द्र पर नहीं जाना पड़ेगा। इसके लिए उन्हे अपने विद्यालय से 15 किलोमीटर के दायरे में ही परीक्षा केन्द्र निर्धारित किया जाएगा। महिला परीक्षार्थियों के लिए अपने विद्यालय से 5 किलोमीटर के दायरे में परीक्षा केन्द्र निर्धारित किया जाएगा। शासन के इस सराहनीय कदम से व्यक्तिगत परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों को काफी राहत मिली है।

रिपोर्ट–संतोष कुमार शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here