सीएम के फरमान के बाद भी अवैध कब्जेदारों पर कोई असर नहीं, प्रशासन की मिली भगत से चल रहा बड़ा खेल

0
103

प्रतीकात्मक

उन्नाव ब्यूरो : नई सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा तालाब, खलिहान, बंजर, कब्रिस्तान, नवीन परती आदि पर जमीन पर अवैध कब्जों को हटाने का आदेश जारी किया गया है, तो वहीं राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारी औपचारिकता पूरी करने में मसक्कत कर रहे हैं, लेकिन जमीनी हकीकत में ग्राम पंचायत व नगर पंचायत की सरकारी जमीनों पर कब्जेदारों का बोलबाला बना हुआ है।

514 राजस्व ग्राम की जनपद की सबसे बड़ी तहसील हसनगंज में कई वर्षों से लेखपाल कानूनगो के रहमो कर्म के चलते कब्जेदार सुरक्षित भूमि पर कब्जा करके मकान बनवा कर व खेती करके मालामाल हो रहे हैं, आला अधिकारी भी जान कर अनजान बने हुए हैं | इस प्रकार की सैकड़ो बीघे भूमि पर हो रही खेती व बने मकान इस बात के चश्मदीद गवाह बने हुए है | ग्राम झालोत्तर नवई में स्थित 1489 बीघे की झील पर सैकड़ो लोग कब्जा कर गेंहू, धान, सब्जी, सिंघाड़ा की खेती कर सरकारी राजस्व को लाखो का चूना लगा रहे हैं, वहीं वन विभाग की बेशकीमती जमीन पर अधिकारीयों की मिली भगत के चलते एक तरफ खपुरा मुस्लिम गांव में अवैध मकान निर्माण किये जा रहे हैं तो दूसरी तरफ सैकड़ो बीघे जमीन पर खेती की जा रही है जब कि यही हाल फिरोजाबाद मजरा बाराबुज़ुर्ग का है जहां सरकारी भूमि पर 35 रिहायसी मकान व एक निजी स्कूल बन गया है जिसकी रिपोर्ट लेखपाल, कानूनगो द्वारा भेजी जा चुकी है |

यही नही हसनगंज तहसील के कोनई गांव के बाहर 3 बीघे खलिहान की जमीन पर ढेड़ दर्जन लोग काबिज हैं, साथ ही गांव के प्राथमिक विद्यालय व तालाब की जमीन पर भी कब्जा कर प्रशासन को ठेंगा दिखा रहे हैं | भौली ग्राम पंचायत के बाहरी गांव में तो लेखपाल व कानूनगो के भरोसा दिलाने के बाद सरकारी भूमि पर मुर्गाफार्म हॉउस व मकान बना कर कब्जा बरकरार है, ठीक इसी तरह मुस्तफाबाद झील में भी 12 बीघे से अधिक जमीन पर कब्जा कर गेंहू धान की खेती की जा रही है जब कि लेखपाल कानूनगो की रिपोर्ट पर 115 डी की कार्यवाही करने के बाद भी सभी नियम कानून बौने साबित हो रहे हैं, जिसका नतीजा ये है कि कोनई गांव की खलिहान की भूमि जिसकी गाटा संख्या 162 पर 115 डी की कार्यवाही एक दशक पहले हुई थी लेकिन कब्जा दखल अभी तक बरकरार है |

प्रशासन की कार्यवाही की बात करे तो तहसील के भैसोरा निवासी पृथ्वी राज सहित ढेड़ दर्जन ग्रामीणों ने तहसीलदार दिवस से लेकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिलाधिकारी से शिकायत करने के बावजूद प्राथमिक विद्यालय की गाटा संख्या 490 पर ग्राम प्रधान ही कब्जा करके मकान बना लिया और पूरा प्रशासनिक अमला जानकर भी असहाय बना रहा, जिससे ये ही कहा जा सकता है कि प्रशासनिक स्तर पर कार्यवाही रिपोर्ट में ही दफन हो जाती है, जमीनी हकीकत में तो ये है कि अभी भी कार्यवाही के नाम पर आदेश निर्देश हवा हवाई साबित हो रहे हैं ।

रिपोर्ट – राहुल राठौड़

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY