आजादी के बाद से अब तक नहीं पहुंची यहाँ बिजली, पर पहुँच गया बिल

0
153

कबरई/महोबा ब्यूरो : कबरई कस्बा से लगा गांव छानीकला पुरवा बिजली के लिऐ तरस रहा है, यहां पर लोग अंधेरे व ऐसी खतरनाक गर्मी मे जीने को मजबूर हैं |

जानकारी के मुताबिक यहां के लोगो का कहना है कि आजादी के बाद से यहाँ बिजली नहीं आई लेकिन छानीकला पुरवा के लोगों को बेवकूफ़ बनाकर पूर्व प्रधान अमरिन्द सिंह ने पिछली पंचवर्षी चुनाव जीतने के लिऐ पुरवा के लोगों को वोट के बदले बिजली देने का वादा कर उनके कागज लेकर सबके नाम बिजली कनेक्शन करवा दिया। बच्चे गर्मी तथा अंधरे में पढ़ने को मजबूर हैं |

गांव का यह पुरवा कई सालों से अंधेरे मे जीने को मजबूर है, इस पर किसी का ध्यान नहीं, बिजली न होने पर न तो पुरवा का विकास कर रहा है और न ही पुरवा में रह रहे लोगों का | जबकि पुरवा की अबादी 2500 है, यहाँ के स्थानिय व्यक्ति द्वारा बताया गया है कि कोई इस पुरवा के लड़के व लड़की से शादी तक के लिऐ को नहीं आता और जो आता है वह यह कहकर चला जाता है कि जिस जगह लाईट नहीं है फिर वहाँ क्या होगा ?


बिजली के पहले आ गया बिजली बिल
लोगों के कनेक्शन हो गऐ लेकिन न वहाँ बिजली के तार पहुंचे न बिजली वो भी आजादी के बाद से अबतक,  लेकिन अंधेर वाली बात यह है कि बिल जरुर पहुंच गया। लोगों के पास असीमित बिल व बिना बिजली के बिल पहुंचने पर हडकम्प मच गया है ।

पीड़ित पुरवा वाले शान्ति पत्नी मथुरा 26306, नन्दकिशोर पुत्र शिवपाल 24113, राजू प्रजापति पुत्र मैकू 26306, रामेश्वर पुत्र बत्तू 26306, प्रीतम पुत्र भवानीदीन 32076, गोरेलाल पुत्र जुरावन 26306, रामबाबू पुत्र मैकू 26306, प्रकाश शर्मा पुत्र गोरेलाल 26306, राजाभईया 23050, घसीटा पुत्र हल्ला 29009 रुपऐ तक का बिल देख पुरवा वाले परेशान हैं  कि जब लाईट नहीं है तार नहीं है तो फिर बिजली का बिल किस उद्देश्य से आ गया। पुरवा वालों का कहना है कि कई बार उच्चाधिकारीयों से शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

रिपोर्ट – प्रदीप मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here