हत्या की आशंका पर हुई खुदाई, पर नहीं मिले सबूत

0
84

सफीपुर/उन्नाव(ब्यूरो)- पुत्री की हत्या कर आरोपी द्वारा लाश अपने ही पुराने खंडहर में गाड़ देने आशंका पर खोदे गए आठ सौ एस्क्वायर फिट लंबा चौड़ा आठ फिट गहरा खोद देने के बाद भी पुलिस के हत्थे कुछ नहीं लगा| हत्या की आशंका व्यक्त करने वाली माँ ने कहा कि कही और भी लाश का होना संभव है| आरोपी के भाई और बहनोई द्वारा हत्या किये जाने के उठे स्वर के बाद अब पुलिस के पास गवाह के बिना मामले की तह तक पहुचना मुश्किल हो गया।

थाना फतेहपुर चौरासी क्षेत्र के ग्राम भटनिया निवासी शिवकली पत्नी रमेश को पड़ोस के ही शिवशंकर ने बताया कि सन 2001 मार्च में अचानक लापता हुई उसकी पुत्री सुनीता की हत्या शिवशंकर के ही बड़े भाई कृपाशंकर ने कर पुराने घर में लाश दफना दी थी जिसके बाद पूरे गाव में फैली सुगबुगाहट के बाद शिवकली ने आरोपी पडोसी के विरुद्ध पहले तो कप्तान के निर्देश से हत्या का मुक़दमा दर्ज कराया फिर संदिग्ध स्थान की खुदाई कराने के निर्देश भी करा लिए।

उपजिलाधिकारी कृपाशंकर यादव, क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार के नेतृत्व में कृपाशंकर के पैतृक घर जो अब खँडहर है की 12 बजकर 40 मिनट पर जे सी बी मशीन द्वारा खुदाई शुरू कराई गई| लगातार तीन घण्टे तक आठ फिट गहराई में खोदा गया पर किसी भी प्रकार के संदिग्ध अवशेष नहीं मिले हत्या की आशंका जताने वाली शिवकली से लगातार संदिग्ध स्थान की निशानदेही जानी जाती रही पर कुछ हत्ते न लगने पर उसने कहा लाश कही और भी हो सकती है| हत्या कृपाशंकर ने ही अपने रिश्तेदार की मदद से की है| एस डी एम कृपाशंकर के अनुसार बारीकी से देखा गया खुदाई की गहरान भी पर्याप्त थी पर कुछ नहीं मिला वही असफलता हाथ लगने पर क्षेत्राधिकारी ने गाव पड़ोस के कई लोगो से बात की 16 वर्ष पूर्व की कई जानकारियां इखट्टा की वह भी अंत तक किसी नतीजे पर नहीं पहुच सके ।

इस मौके पर एस डी एम, सी ओ के अलावा ऊगू चौकी इंचार्ज सुबोध यादव भारी पुलिस बल के साथ, गुमुशुदा सुनीता की माँ शिवकली, भाई विनोद के अलावा पडोसी सहित तमाम गाव वाले मौजूद रहे।

रिपोर्ट- रामजी गुप्ता 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here