कलेजे पर हाँथ रखकर बताइए क्या वाकई दलितों पर हमले बढे हैं ? : राजनाथ सिंह

0
1920

rajnath
गुरुवार को संसद में विपक्ष द्वारा दलितों को लेकर उठाये गए सवाल पर जवाब देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा देश में वसुधैव कुटुम्बकम की भावना है, दलितों के मसले पर किसीतरह की राजनीती नहीं करनी चाहिए |

राजनाथ सिंह ने कहा केंद्र सरकार दलित वर्ग के आर्थिक और सामाजिक उन्नयन के लिए तेजी से काम कर रही है, सांसदों और अन्य राजनीतिक दलों से मेरा अनुरोध है कि इस मुद्दे का राजनीतिकरण ना होने दें |

उन्होंने कहा कुछ विकृत मानसिकता वाले लोग देश में एक तरह का भ्रम फैला रहे हैं, कांग्रेस पिछले 55 सालों में जो काम नहीं कर पायी वह हमने 2 सालों में कर दिया |

स्वामी विवेकानंद के शब्दों को याद करते हुए उन्होंने कहा जब तक देश में गरीबों का उत्थान नहीं होगा देश का उत्त्थान नहीं होगा, उन्होंने महात्मा गाँधी की भी याद दिलाई और कहा कि महात्मा गाँधी ने कहा था हमें हरिजनों से वीसा ही व्यवहार करना चाहिए जैसा हम अपने भाई बहनों से करते हैं |

राजनाथ सिंह ने आगे कहा देश में जातिवाद और सम्प्रदायवाद पूरी तरह से ख़त्म होना चाहिए, हमें दलितों का उत्पीडन रोकने के लिए और सख्त कानून बनाने होंगे | लोगों के बीच यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि NDA सरकार में दलितों पर हमले बढ़ गए हैं अपने दिल पर हाँथ राखकर पूछिए क्या वाकई ऐसा हुआ है जवाब मिलेगा नहीं |

उन्होंने एक कहानी सुनकर अपनी बात स्पष्ट करने की कोशिश की जिसमे उन्होंने बताया एक राजा ने कहा पूरी झोपड़ी सोने से भर दूंगा और इसके अलावा अलग से सोना भी दूंगा. इस पर संत रविदास ने कहा कि मुझे तो सिर्फ रामधन ही चाहिए. आपके सोने से मेरा रामधन भी चला जाएगा. ऐसे महान लोगों की है हमारी धरती |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY