सचिव के लापरवाही से उत्क्रमित मध्य विद्यालय सरडीहा में बंद है महीनों से मध्यान भोजन

0
280

school
दुमका : जरमुंडी प्रखंड में शिक्षा व्यवस्था का हाल पूरी तरह चरमरा गया है। ऐसे कई स्कूल हैं जो समय पर खुलते नहीं है। लेकिन किसी तरह विद्यालय खुल तो जाते हैं परंतु विद्यालय के सचिव मध्यान्ह भोजन में रुचि नहीं दिखाते हैं | एक ऐसा उदाहरण है जहां लगता है कि शिक्षा विभाग दोषी है, परंतु शिक्षा विभाग उतना दोषी नहीं प्रतीत होता है, जितना विद्यालय के सचिव का कथन है |

school (2)

विद्यालय के सचिव का कहना है कि शनिवार के दिन चावल उठाव किया जबकि जरमुंडी प्रखंड के सभी विद्यालयों में बीते बुधवार के दिन ही चावल वितरण किया गया है। यह कथन है उत्क्रमित मध्य विद्यालय सरडीहा के सचिव का जिस ने कहा कि समय पर चावल नहीं मिलता है या पैसा उपलब्ध नहीं होता है तो कैसे एमडीएम चलाएं। जहां तक ग्रामीणों ने बताया कि लगभग महीना भर से एमडीएम बंद है। यह साफ तौर पर सचिव की लापरवाही को दर्शाता है। सचिव को बोलने पर धमकी देता है कि जो करना है कर लो विभाग का दोष है मेरा कोई दोष नहीं है। अब ऐसे में सवाल उठता है कि बच्चों का क्या दोष है जिनको रोज स्कूल आना है, खाना मिले तो अच्छा ना मिले तो अच्छा।

रिपोर्ट – धनञ्जय सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here