झंगहा के दरोगा चाहे होते तो नहीं होती मारपीट

0
169


गोरखपुर ब्यूरो : झंगहा थाने पर तैनात दरोगा जयंती प्रसाद शर्मा अगर सही कार्रवाई किये होते तो आज मारपीट नही होती|सदाशिव दूबे की शिकायत पर दरोगा ने गलत रिपोर्ट लगा कर तहसील दिवस प्रभारी को रिपोर्ट दिये कि निर्माण कार्य रोक दिया गया है|

विवरण के अनुसार इसी थाना क्षेत्र के जंगलरसुलपुर नं.२ के निवासी ने तहरीर तहसील दिवस प्रभारी,ए.एसो.सी.गोरखपुर को प्रार्थना पत्र देकर निर्माण कार्य रोकने का आदेश दिये थे जिस पर तत्कालीन थानाध्यक्ष राजेश मिश्र ने प्रार्थी को भुजा खिला कर यह कह कर वापस कर दिये कि राजस्व कर्मचारी लेकर आवो तब मै निर्माण कार्य रोकवा दूगा|पीड़ित आदेश की नकल लेकर चकबन्दी अधिकारी चौरीचौरा से मिला तो चकबन्दी अधिकारी ने लेखपाल से आख्या मांगी लेखपाल ने मौके पर आकर देखा तो निर्माण कार्य हो रहा था|लेखपाल ने तुरन्त चकबन्दी अधिकारी को अपनी रिपोर्ट दिया जिस पर चकबन्दी अधिकारी ने थानाध्यक्ष झंगहा को अवैध निर्माण रोकने व मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिये तत्कालीन थाना प्रभारी राजेश मिश्र ने दरोगा जयंती प्रसाद शर्मा को आदेशित किये| मजेदार बात यह रही कि दरेगा जयंती प्रसाद शर्मा बिना मौका का मुआईना किये रिपोर्ट लगा दिये कि निर्माण कार्य नही हो रहा है उसी का लाभ विपक्षी श्रीनिवास दूबे,मृतुन्जय दूबे,नवनीत दूबे ने गुरूवार को सदाशिव दूबे व उनके पत्नी को बुरी तरह पीट कर सुता दिया|

ग्रामीणों की सूचना पर १०० की पुलिस मौके पर पहुंच कर घायल सदाशिव व उनकी पत्नी को अस्पताल ले गये|सदाशिव दूबे ने बताया कि मेरे पत्नी से बच्चे नही है इसलिए मेरा भाई श्री निवास,भतीजा मृतुन्जय,नवनीत दूबे जमीन जायदाद हड़पने की कोशिश कर रहे है| उन्होंने बताया कि जयंती प्रसाद दरोगा जी गलत रिपोर्ट अगर नही लगाये होते तो मै मार नही खाया होता| फिलहाल झंगहा पुलिस मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने मे जुटी हुई है| सदाशिव दूबे ने बताया कि कल मै आई.जी.जोन गोरखपुर से मिलकर पूरी व्यथा बतायेंगे |

अब देखना है कि पुलिस क्या कार्रवाई करती है|क्या सदाशिव को न्याय मिलेगा कि नही इस प्रश्न पर अभी भी सवालिया निशान लगा है ?

रिपोर्ट-जयप्रकाश यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here