अब भारत को कोई भी युद्ध में नहीं हरा सकता, दुनिया के हर एक रडार सिस्टम को नष्ट कर सकती है यह भारतीय मिसाइल

0
61960

missile11

दिल्ली- बीते कुछ सालों में भारत ने सैन्य ताकत के क्षेत्र में एक के बाद एक कई बड़े कदम उठाये है | आज हिन्दुस्तान के इन्ही फैसलों की बदौलत भारत उस उंचाई पर पहुँच चुका है जहां दुनिया के किसी भी देश में इतनी हिम्मत नहीं है कि वह भारत की तरफ अपनी आँख तिरक्षी कर देख सके |

एंटी रेडियसन मिसाइल (एआरएम)
भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन हिन्दुस्तान की सुरक्षा के लिए एक ऐसा हथियार विकसित कर रहा है जिसे पूरी दुनिया का सबसे बेहतरीन हथियार माना जा रहा है | दरअसल आपको बता दें कि हिन्दुस्तान एक ऐसी मिसाइल बना रहा है जो दुश्मन के किसी भी शक्तिशाली से शक्तिशाली रडार सिस्टम को नष्ट करने की ताकत रखती है |

दुश्मनों के रडार सिस्टम के नष्ट होने भारत के युद्ध जीतने की संभावनायें पक्की हो जाएँगी क्योंकि राडार सिस्टम नष्ट हो जाने के बाद कोई भी दुश्मन देश भारतीय जहाजों की लोकेशन और भारतीय मिसाइलों को ट्रेस नहीं कर सकेगा | जिसके बाद भारतीय वायु सेना की मारक क्षमता कई-कई गुना अधिक बढ़ जायेगी |

डीआरडीएल कर रहा है विकसित –
बता दें कि भारत की इस घातक मिसाइल को विकसित करने का काम डीआरडीएल जो कि डीआरडीओ का ही एक हिस्सा है ने किया है | यह मिसाइल दुनिया के किसी भी रडार को चकमा देकर उसी रडार को नष्ट करने की क्षमता रखती है |

सुखोई एमकेआई-30 और तेजस जैसे उन्नत विमानों पर लगेगी यह मिसाइल –
भारत के पास फिलहाल रूस की मदद से विकसित किये गए सुखोई एमकेआई-30 सबसे अग्रिम मोर्चे के लड़ाकू विमान है | भारत के पास फिलहाल सुखोई-30 के 140 विमान है और तक़रीबन 100 विमानों के भारतीय वायु सेना में जल्द ही और शामिल होने की सम्भावना है |

ऐसे में भारतीय सीमाओं की रक्षा और दुश्मनों के खात्मे के लिए भारतीय सेना और सरकार ने यह तय किया है कि एआरएम को सुखोई और तेजस जैसे उन्नत और स्वदेशी विमानों पर ही लगाया जाएगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here